यूपी स्मार्ट मीटर घोटाले की सीबीआई जांच हो, आम आदमी पार्टी ने की मांग

आप प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने गुरुवार को पत्रकारों से कहा कि पार्टी इस लूट के खिलाफ एक प्रदेशव्यापी आंदोलन करेगी. उन्होने कहा कि सरकार की मिलीभगत वाली इस संस्थागत लूट के मामले में सीबीआई जांच होनी चाहिये.

लखनऊ: आम आदमी पार्टी (आप) ने उत्तर प्रदेश में बिजली के स्मार्ट मीटर खरीद में घोटाले का आरोप लगाते मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग की है.

आप प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने गुरुवार को पत्रकारों से कहा कि पार्टी इस लूट के खिलाफ एक प्रदेशव्यापी आंदोलन करेगी. उन्होने कहा कि सरकार की मिलीभगत वाली इस संस्थागत लूट के मामले में सीबीआई जांच होनी चाहिये. बिजली आम जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसका बिल किसी भी आम उपभोक्ता के खर्चों का एक बड़ा हिस्सा है.

दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार के ऊपर बिजली को लेकर एक बड़ा आंदोलन चलाया, दिल्ली की जनता ने बिजली से संबधित पीड़ा को हमारे समक्ष रखा. हमारी बातों की समझा कि बिजली में भ्रष्टाचार किया जा रहा है इसलिए बिजली की कीमत ज्यादा है. और आज इसी का नतीजा है की दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली की जनता को देश में सबसे सस्ती बिजली उपलब्ध करा रही है इसे और भी सस्ता करने का प्रयास जारी है.

उन्होंने कहा कि ऐसे में सवाल ये उठता है किन कारणों की वजह से दिल्ली के पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में देश की सबसे महंगी बिजली योगी सरकार दे रही है. उपभोक्ताओं को ना सिर्फ महंगी बिजली दी जा रही है बल्कि स्मार्ट मीटर के नाम पर 30 प्रतिशत ज्यादा बिल उपभोक्ताओं से वसूला जा रहा है.

यह भी पढ़े: भारत में कोविड-19 टीकों का उत्पादन, सभी देशो की आपूर्ति के लिए होगा मददगार

Related Articles

Back to top button