Aarogya Setu IVRS सुविधा लॉन्च, फीचर फोन और लैंडलाइन यूज़र्स को मिलेगा लाभ

स्वास्थ्य मंत्रालय ने फीचर फोन और लैंडलाइन का इस्तेमाल करने वाले नागरिकों के लिए ‘Aarogya Setu Interactive Voice Response System’ लॉन्च किया है। यह आरोग्य सेतु ऐप की तरह ही है, जिसे डाउनलोड करने का आग्रह सरकार नागरिकों से कर रही है। इस ऐप की मदद से आप COVID-19 संक्रमण का पता कर सकते हैं और खुद को इस खतरनाक महामारी से दूर कर सकते हैं।
स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बयान ज़ारी करते हुए बताया कि Aarogya Setu Interactive Voice Response System (IVRS) एक टोल-फ्री सर्विस है जो कि पूरे देश में उपलब्ध है। इस सर्विस के लिए नागरिकों को एक टोल-फ्री नंबर पर मिस्ड कॉल करनी है, वो नंबर है ‘1921’। इस नंबर पर मिस्ड कॉल करने के बाद आपको वापस कॉल आएगा, इस कॉल में आपके स्वास्थ्य से जु़ड़े इनपुट्स लिए जाएंगे।

बयान के मुताबिक के पूछे जाने वाले सवाल आरोग्य सेतु ऐप से जुड़े हुए होंगे और आपके द्वारा दिए जाने वाले जवाब के आधार पर आपको एक SMS भेजा जाएगा, यह एसएमएस आपके हेल्थ स्टेटस की जनकारी देगा और अगर हालत गंभीर हुई तो यह आपको सुधार का अलर्ट भी ज़ारी करेगा।नागरिकों द्वारा दिया गया इनपुट आरोग्य सेतु डेटाबेस का हिस्सा बनेगा और और इस जानकारी के आधार पर लोगों को अलर्ट ज़ारी किया जाएगा और अपनी सुरक्षा के लिए उन्हें अलर्ट भेजा जाएगा।

स्वास्थ मंत्रालय ने नागरिकों से अनुरोध किया है कि वह अपने-अपने मोबाइल फोन में इस ऐप को डाउनलोड करें और इसकी सहायता से नोबल कोरोना वायरस के खतरे से दूर रहें। देशभर में अब कर इस खतरनाक वायरस ने करीब 1700 लोगों की जान ली है और इससे 50,000 से ज़्यादा लोग संक्रमित हैं।

हालांकि, मंत्रालय ने यह भी दावा किया है कि अब तक 9 करोड़ नागरिकों ने आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप को अपने फोन में डाउनलोड किया है। वहीं, अब जिन लोगों के पास स्मार्टफोन नहीं है, जैसे जो लोग फीचर फोन व लैंडलाइन का इस्तेमाल करते हैं उनके लिए भी सरकार ने IVRS के जरिए इस सुविधा को पहुंचा दिया है।आरोग्य सेतु ऐप एंड्रॉयड यूज़र्स के लिए गूगल प्ले स्टोर और आइफोन यूज़र्स के लिए IOS ऐप स्टोर पर उपलब्ध है। यह ऐप अंग्रेजी के अलावा 10 भारतीय भाषाओं को सपोर्ट करता है।

Related Articles