राफेल सौदे पर कांग्रेस ने कहा-करोड़पति मित्र के लिए देश के हितों का त्याग कर दिया

0

नई दिल्ली : कांग्रेस ने राफेल सौदे को लेकर मोदी सरकार पर फिर से हमला किया है। कांगेस ने बीजेपी सरकार से ये सवाल पूछा कि जब देश को 126 फाइटर प्लेन की जरुरत थी तो सरकार ने फ्रांस से सिर्फ 36 विमान क्यों खरीदे ? कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि अगर किसी तरह की इमरजेंसी थी तो भारत सरकार ने फ्रांस सरकार से एक साथ सभी विमानों की मांग क्यों नहीं की?

उन्होंने कहा कि विमानों की पहली सप्लाई 2019 में होनी है और बचे हुए विमान 2022 में फांस सरकीर सप्लाई करेगी। आगर किसी तरह की कोई जल्दबाजी थी तो सरकार ने 2019 में ही सभी विमानों की मांग क्यों नहीं की? प्रियंका ने आगे कहा कि सरकार क्यों इस समझौते की जेपीसी जांच से डर रही है।

भारत को कुल 126 विमानों की जरूरत है पर एनडीए ने 36 विमानों की खरीद पर हस्ताक्षर क्यों किया ये समझ से बाहर है। कांग्रेस ने ये आरोप लगाया कि सरकार ने “करोड़पति मित्र” के पक्ष में देश के हितों का त्याग कर दिया। प्रियंका ने आगे कहा कि कैसे 526 करोड़ का प्लेन 1670 करोड़ का हो गया इसका जवाब सरकार को देना चाहिए।

ये भी पढ़े…..पीएम मोदी और मनमोहन सिंह के सामने उपराष्ट्रपति ने जाहिर की नाखुशी

सरकार ने क्यों सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम कंपनी के साथ सौदा नहीं किया। पीएम बताएं कि एक 70 साल पुरानी कंपनी जिसका रिकोर्ड एक दम साफ है, उसकी जगह सिर्फ 12 दिन पुरानी कंपनी को ठेका किस वजह से दिया गया?

loading...
शेयर करें