कुशीनगर में टला हादसा, बीच नदी में फसी नाव से निकाले गए सैकड़ों लोग

यूपी के कुशीनगर जिले में एक बड़ा हादशा होने से बाल-बाल बच गया।

कुशीनगर: यूपी के कुशीनगर जिले में एक बड़ा हादशा होने से बाल-बाल बच गया। दरअसल यह घटना कुशीनगर की तमकुहीराज क्षेत्र की है। जहां एक नदी में एक नाव पर सवार करीब 150 लोगों की जान पल भर में खतरें आ गई। हलांकि स्‍थानीय लोगों की ह‍िम्‍मत और सूझबूझ से सुबह तक सभी को बचा लिया गया। प्रशासन और एनडीआरएफ टीम ने भी लोगों को रेस्‍क्‍यू करने में मदद की।

बता दें कि नरायणी नामक नदी में गुरुवार की रात लगभग 150 लोग अपने खेतों से काम कर के वापस लौट रहें थे। तभी नदी के बीच में नाव में कुछ खराबी आ गई और नाव बीच धार में फंसकर बहने लगी। बताया जा रहा कि नाव के डीजल का पाइप फट जाने से डीजल बह गया और नाव का इंजन बंद हो गया। इतना होते ही सभी नाव पर सवार लोगों में दहशत फैल गई और बचाने के लिए शोर-शराबा भी होने लगी।

लोगों की शोर सुनकर स्थानीय लोग मदद के लिए आगे आए और सूझबूझ दिखाई और छोटी नावों के साहरे लोगों को किनारे लाने में जुट गए। प्रशासन और ग्रामीणों ने नाव में फंसे आधे से ज्यादा लोगों का रेस्क्यू कर बाहर निकल लिया था सूचना पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने बाकी के बचे लोगों को सुरक्षित निकाल लिया।

तेज धार में बही नाव

नाव तेज धार मे बहती हुई खराबी वाले स्थान से करीब 5 किलोमीटर जाकर संपूर्णानगर के सामने नदी की धार में ही किसी तरह से रुक गई। इसके बाद गांवों के लोगों ने साहस और सूझबूझ का परिचय देते हुए प्रशासन को सूचना दी लेकिन बिना समय गंवाए खुद ही राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया। कुछ देर बाद प्रशासन की ओर से भी मदद पहुंची।

यह भी पढ़ें: टास्क फोर्स ने दी चेतावनी, अगले कुछ सप्ताह में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर

Related Articles