उत्तराखंड में glacier टूटने से हुआ हादसा, राहत- बचाओ अभियान में जुटी सेना

देहरादून : उत्तराखंड के जोशीमठ में glacier टूटने से 8 लोगों की मौत हो गई है। हादसे के बाद भारतीय सेना यहां लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अलर्ट जारी कर जिला प्रशासन और बीआरओ के सम्पर्क में रहने को कहा हैं।

घटना उत्तराखंड के चमोली जनपद के जोशीमठ की है जहाँ ग्लेशियर टूटकर मलारी-सुमना सड़क पर गिर गया था। चश्मदीदों की माने तो हादसे के वक़्त सड़क पर कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा था। ग्लेशियर टूटने के बाद सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। सेना के हाल ही में जारी बयान के मुताबिक, अब तक 8 शव बरामद किए गए  हैं और 384 लोगों को सुरक्षित बचाया जा चुका है।

उत्तराखंड में हाल ही में हुआ था glacier से हादसा

जिन लोगों को बचाया गया है उनमें 6 की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। सेना की सेंट्रल कमांड के मुताबिक, यह लोग जोशीमठ के सुमना इलाके में बने बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन के कैंप में थे।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर दिए अपने बयान में कहा कि जिला प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दे दिए हैं। इसी के साथ साथ एनटीपीसी और दूसरे प्रोजेक्ट्स में रात के समय काम रोकने के आदेश दे दिए हैं ताकि कोई अप्रिय घटना ना होने पाए।

सीएम ने बताया कि देश के होम मिनिस्टर अमित शाह ने नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना का संज्ञान लिया है। उन्होंने इस घटना के मद्देनज़र उत्तराखंड को हर तरह की मदद का भरोसा दिया है और आईटीबीपी को सावधान रहने को भी कहा हैं।

यह भी पढ़ें : Covid-19 क्राइसिस के मद्देनज़र अब अगले तीन महीनों तक इनपर नहीं लगेगी कस्टम ड्यूटी

Related Articles

Back to top button