नाबालिक से दुष्कर्म के आरोपी को अदालत ने दी यह कठोर सजा, पीड़ित को मिली राहत

0

नैनीताल। लगभग दो साल के बाद उत्तराखंड में एक दुष्कर्म की पीड़ित को कोर्ट से इंसाफ मिल ही गया। अदालत ने दोषी को 10 साल कारावास और 90 हजार का जुर्माना की सजा सुनाई है। आपको बताते चले कि पॉक्सो जज विजेंद्र सिंह की अदालत ने यह फैसला सुनाया है। इस मामले में आऱोपी ने एक किशोरी के साथ बहला फुसलाकर दुष्कर्म किया था।

इस मामले में पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आरोपी को 6 मई 2016 को गिरफ्तार कर लिया था, जिसके बाद से लगातार मामले पर सुनवाई हो रही थी, लेकिन अब अदालत ने दोषी को यह सजा सुनाकर पीड़ित और उसके घर वालों को भारी राहत दी है।

कब औऱ कहां का है मामला

घटना के पश्चात उसके पिता ने बताया कि नाबालिग पुत्री 10 अप्रैल 2016 को कोचिंग जा रही थी। इसी बीच सर्वेश कुमार गंगवार पुत्र लाखन राम निवासी सुल्तानपुर, थाना मिरानपुर भट्टा, जिला शाहजहांपुर (उप्र) उसे बहला फुसलाकर अपने साथ हरिद्वार ले गया। जहां उसने उससे दुष्कर्म किया। इस मामले में शासकीय अधिवक्ता उमेश नाथ पांडेय ने सात गवाह पेश कर आरोपी पर जुर्म सिद्ध कर दिया। पॉक्सो जज विजेद्र सिंह की अदालत ने आरोपी को 10 साल की सजा और 90 हजार रुपये के जुर्माने से दंडित किया।

loading...
शेयर करें