हैवानियत की हदे पार, नबालिग से दुष्कर्म मामले में 17 गिरफ्तार

तिरुवनंतपुरम: केरल के मलाप्पुरम जिले में एक नाबालिग (Nabalig) लड़की से दुष्कर्म के आरोप में पास्को अधिनियम के तहत 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 30 लोगो पर मामले दर्ज किए गए हैं। यह घटना मलाप्पुरम जिले के पांडिक्कड़ में हुई थी। बाल कल्याण समिति और पुलिस अब कार्रवाई में जुट गए हैं। नाबालिग (Nabalig) लड़की के साथ दो बार पहले भी दुर्व्यवहार किया गया था।

स्वास्थ्य और सामाजिक कल्याण मंत्री केके शैलजा ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा, “सरकार आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी और विभाग यह सुनिश्चित करेगा कि ऐसी और कोई भी घटना घटित न हो।”

पांडिक्कड़ पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस अधिकारी मोहम्मद हनीफा ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, “नाबालिग लड़की के यौन शोषण और हमले के लिए मलाप्पुरम जिले के पांडिक्कड़, करुवरक्कुंडु और वंदूर स्टेशन में कुल 30 मामले दर्ज हैं।” अधिकारी ने कहा, “16 मामले पांडिक्कड़ में दर्ज कराए गए हैं, 13 करुवरक्कुंडु में, वहीं 1 मामला वंदूर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया गया है। पांडिक्कड़ से 16 और वंदूर से 1 को गिरफ्तार कर लिया गया है।”

ये भी पढ़ें : मनोरंजन के नाम पर हिन्‍दुओं का अपमान, योगी सरकार ने किया नाकाम

17 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता के साथ इससे 4 साल पहले 13 साल की उम्र में दुर्व्यवहार किया गया था, जिसके बाद उसे निर्भया केंद्र में रखा गया था। 2017 में उस बच्ची के साथ एक बार फिर दुष्कर्म किया गया, जब वह अपने रिश्तेदार के यहां रहने लगी थी। यहां मामला प्रकाश में तब आया जब वह अचानक अपने भाइया-भाभी के यहां से लापता हो गई, जहां वह उनके साथ रह रही थी। नाबालिग लड़की के पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं, और उसकी मां का कोई अता-पता नहीं है।

Related Articles

Back to top button