भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में एक्टिविस्ट सुधा भारद्वाज रिहा, NIA की याचिका SC ने की थी खारिज

सुप्रीम कोर्ट ने भीमा कोरेगांव मामले में एक्टिविस्ट सुधा भारद्वाज को बड़ी राहत देते हुए जमानत याचिका को बरकरार रखा है. और रिहाई के आदेश दे दिए है. जिसके बाद आज वो रिहा हो चुकी है.

नई दिल्ली : भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में तीन साल से जेल में बंद अधिवक्ता-कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज को बुधवार को कोर्ट ने जमानत दे दी है. जिसके बाद आज उनकी रिहाई हुई. रिहा होने के बाद वो बाहर निकली. इस दौरान उनकी एक तस्वीर भी सामने आई है. बता दें. आपको सुधा भारद्वाज को 50 हजार के निजी मुचलके पर जेल से रिहा गया है. सुधा भारद्वाज के वकील ने उनकी रिहाई के आदेश तुरंत जारी करने की अपील की थी, इस पर कोर्ट ने कहा कि आवश्यक सत्यापन प्रक्रिया पूरी होने के बाद उन्हें रिहा कर दिया जाएगा.जिसके बाद आज वो रिहा हो सकी. जानकारी के लिए बता दें आपको की सुधा भारद्वाज को एल्गार परिषद मामले में अगस्त 2018 में गिरफ्तार किया गया था. वह तब से भायखला जेल में बंद हैं.

सशर्त मिली रिहाई

एनआईए स्पेशल कोर्ट ने सुधा भारद्वाज को सशर्त रिहाई दी है. कोर्ट की ओर से तय की गई शर्तों के तहत सुधा को मुम्बई में ही रहना होगा, ट्रायल की तारीखों पर कोर्ट में हाजिर होना पड़ेगा साथ ही वह मीडिया से भी केस से जुड़ी कोई बात नहीं कर सकती हैं. वहीं उन्हें देश छोड़कर भी जाने की इजाजत नहीं है.

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की एनआईए की याचिका

सुधा भारद्वाज की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए बांबे हाईकोर्ट ने एक दिसंबर को उन्हें रिहा किए जाने का आदेश दिया था. कोर्ट ने एनआईए स्पेशल कोर्ट को उनकी रिहाई की शर्तें व तारीख तय करने का निर्देश दिया था. जिसके बाद उन्हें आज जमानत और रिहाई मिल गई है.

To End The Problem Of Dowry, It Is Necessary To Bring Changes In Ourselves: Supreme Court - देश में दहेज निरोधी कानून को मजबूत करने की जरूरत : सुप्रीम कोर्ट | India

क्या है मामला?

साल 2018 के जनवरी महीने में पुणे के पास भीमा-कोरेगांव लड़ाई की 200वीं वर्षगांठ के मौके पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था. इस कार्यक्रम में हिंसा होने से एक शख्स की मौत हो गई थी. वहीं, इस पूरे घटनाक्रम में सुधा भारद्वाज को गिरफ्तार किया गया था.

यह भी पढ़ें: 200 करोड़ रुपये की रंगदारी के मामले में जैकलीन दूसरे दिन ED के सामने हुईं पेश

Related Articles