नेपोटिज़्म पर आया एक्टर बॉबी देओल का बयान, कहा- मैं तो इनसाइडर हूं फिर भी..

मुंबई: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद शुरू हुई नेपोटिज़्म और इनसाइडर-आउटसाइडर की बहस में अब बॉलीवुड एक्टर बॉबी देओल का भी बयान सामने आया है। उन्होंने ने भी नेपोटिज़्म की इस बहस में अपनी राय लोगों के साथ साझा किया है| उन्होंने बताया की दुनिया में नेपोटिज़्म हर जगह होता है।

एक्टर ने कहा, ‘ये तो हर प्रोफेशन में होता है। मुझे लगता है इसमें उन बच्चों की कोई गलती नहीं है जो इस बिजनेस से ताल्लुक़ रखने वालों के घरों में पैदा हुए हैं और बड़े हुए हैं। उन्होंने ख़ुद उस परिवार में पैदा होने का फैसला नहीं किया। हर मां बाप का फर्ज़ होता है कि वो अपने बच्चे को सही दिशा में आगे बढ़ाएं, उन्हें पढाएं, फिर वो जो प्रोफेशन चुनना चाहें उसमें उन्हें सपोर्ट करें। कई बार डॉक्टर का बेटा डॉक्टर बनना चाहता है, या उसके पिता उसे डॉक्टर ही बनाना चाहते हैं। ऐसा ही यहां पर है, एक्टर का बेटा एक्टर बनना चाहेगा। मुझे लगता है कि स्ट्रगल और मौके सभी को समान मिलते हैं’।

बॉबी देओल ने इसके आगे कहा की, ‘अगर आप मूवी बिजनेस वाले परिवार से आते हैं तो आपको पहली फिल्म आसान से मिल जाती हैं लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं कि एक फिल्म आपका करियर बना देगी। नहीं, आपका काम आपके लिए बोलेगा, अगर आपका काम अच्छा है तो लोग आपके साथ काम करना चाहेंगे। इसी तरह मेरा करियर भी बना है। जब मुझे लॉन्च किया गया तो मैं देओल था.. मेरी ख़ुद की पहचान सिर्फ बॉबी है। मुझे लगता है, मैं एक इनसाइडर हूं पर फिर भी स्ट्रगल कर रहा हूं। मैं नहीं कह रहा कि ये आसान है या आसान नहीं है एक इनसाइडर और आउटसाइडर के लिए। यहां कुछ किस्मत की भी बात होती है। हर किसी को क्रिकेट खेलने का चांस नहीं मिलता’। अगर हम वर्कफ्रंट की बात करे तो बॉबी नेटफ्लिक्स पर फिल्म ‘क्लास ऑफ 83’ से अपना डिजिटल डेब्यू कर रहे हैं। ये फिल्म जल्द ही 21 अगस्त को रिलीज होगी।

Related Articles