अभिनेता प्रतीक बब्बर ने आजकल के युवाओं के लिए कही ये बात

मुंबई। आगामी फिल्म ‘मुल्क’ में एक आतंकवादी का किरदार निभा रहे अभिनेता प्रतीक बब्बर का कहना है कि युवावस्था के दौरान आप आसानी से बहक जाते हैं और मैं बड़े होने के साथ अधिक बुद्धिमान होता जा रहा हूं। यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने फिल्म में शाहिद नामक मुस्लिम लड़के का किरदार निभाने के लिए अपने निजी जीवन से भी प्रेरणा ली? प्रतीक ने कहा, “किरदार को पर्दे पर उतारने से पहले मैंने इसे अपने दिमाग में बनाया और मैंने अपने निजी जीवन से भी प्रेरणा ली।”

प्रतीक ने कहा, “शाहिद का किरदार एक भटके हुए युवक का है, जैसा कि मैं था, लेकिन उसकी वजहें अलग हैं। युवावस्था में अगर आप गलत लोगों से मिल रहे हैं तो आप भटक जाते हैं। आपके दिमाग पर आसानी से बुरा प्रभाव डाला जा सकता है।”

उन्होंने युवा आतंकवादियों की दुनिया को जानने के लिए काफी तैयारी की। उन्होंने कहा, “यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे नहीं समझते कि लोगों को मारकर वे अपराध को अंजाम दे रहे हैं। उनके लिए यह ईश्वर से मिलने का तरीका है। क्या यह करना सही है? वे तार्किक सोच खो देते हैं। मेरे लिए यह किरदार निभाना मुश्किल था, लेकिन चुनौती में मजा आया।”

फिल्म में ऋषि कपूर, आशुतोष राणा और कुमुद मिश्रा जैसे बड़े अभिनेताओं के साथ काम करने पर प्रतीक ने कहा, “हे भगवान! यह बहुत डरावना और रोचक था, उनके प्रदर्शन का स्तर इतना बड़ा है कि मैं हमेशा बेहतरीन करने की कोशिश करना चाहता था। अगर मैं ऐसा नहीं करता तो सबसे अलग लगता, मैंने अनुभव सर को अपने अभिनय पर कमेंट करने के लिए बहुत परेशान किया। प्रतीक ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म ‘जाने तू..या जाने ना’ से की थी।

Related Articles