अब अडानी ग्रुप की होगी रिलायंस एनर्जी, अगले हफ्ते होगा सौदा

0

मुंबई| रिलायंस इंफ्रास्ट्रकचर लि. ने सोमवार को घोषणा की कि उसके एकीकृत मुंबई बिजली वितरण कारोबार को अडानी ट्रांसमिशन लि. (एटीएल) को बेचने का सौदा अगले हफ्ते पूरा हो जाएगा। आरइन्फ्रा ने 2017 के दिसंबर में मुंबई के बिजली उत्पादन, संरचण और वितरण के एकीकृत व्यापार की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक्री के लिए एटीएल के साथ एक बाध्यकारी समझौते पर हस्ताक्षर किया था।

रिलायंस एनर्जी के एक अधिकारी ने कहा कि यह सौदा 18,800 करोड़ रुपये में किया गया है।
आरइन्फ्रा इस सौदे से प्राप्त आय का पूरी तरह से उपयोग अपने कर्ज चुकाने में करेगी, जिसे देश में किसी भी कॉर्पोरेट द्वारा अपने कर्ज को कम करने के लिए की गई सबसे बड़ी बिक्री करार दिया जा रहा है।

आरइंफ्रा ने अपनी संपत्तियों के मुद्रीकरण का कदम भविष्य की रणनीति को ध्यान में रखकर उठाया है। रिलायंस एनर्जी भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की एकीकृत बिजली कंपनी है, जो 400 वर्ग किमी से अधिक मुंबई के उपनगरों में लगभग 30 लाख आवासीय, औद्योगिक और वाणिज्यिक उपभोक्ताओं को बिजली वितरित करती है।

यह 7,500 करोड़ रुपये के वार्षिक राजस्व के साथ 1,800 मेगावाट से अधिक की मांग की पूर्ति करता है।अधिकारी ने आगे कहा कि आगे आरइंफ्रा हल्के ईपीसी और रक्षा कारोबार में आगामी मौकों पर ध्यान केंद्रित करेगी।

loading...
शेयर करें