योगी आदित्यनाथ की पीडब्ल्यूडी को धमकी

गोरखपुर। भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ ने लोकनिर्माण विभाग (पीडब्लूडी) गोरखपुर को मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी है। महेसरा पुल के निर्माण में हो रही देरी पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने स्थानीय थाने में मुकदमा लिखवाने की धमकी दी है।

एक प्रेस बयान के जरिये योगी ने अपनी नाराजगी का इजहार किया है। उन्होंने कहा है कि महेसरा सेतु के निर्माण के लिए भारत सरकार के भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने सितम्बर, 2009 में रूपया 9.25 करोड़ स्वीकृत किया था। सेतु की डिजाइन और विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने में प्रदेश सरकार ने सवा साल लगाये। अन्तत: जनवरी, 2011 में सेतु का निर्माण कार्य प्रारम्भ हुआ। चूंकि सेतु की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट रू 6.40 करोड़ में बनी थी, इसलिये भारत सरकार के द्वारा स्वीकृत 9.25 करोड़ की सम्पूर्ण धनराशि हड़पने के चक्कर में कार्यदायी संस्था के अधिकारी और ठेकेदार प्रारम्भ से ही कार्य में लापरवाही बरतते चले गये। योगी ने कड़े शब्दों में कहा कि सेतु का एक भी पिलर अभी तक न बनना लोक निर्माण विभाग (एन0एच0) की पूरी कार्यप्रणाली को कठघरे में खड़ा करती है।

भ्रष्टाचार का आरोप लगाया

भाजपा सांसद ने लोकनिर्माण विभाग पर भ्रष्टाचार का आरोप भी लगाया है। उन्होंने कहा है कि यह आश्चर्यजनक है कि इस सेतु के निर्माण में बरती जाने वाली लापरवाही के खिलाफ आन्दोलन किये गये गये। लोक निर्माण विभाग से अधिशासी अभियन्ता से लेकर मुख्य अभियन्ता, प्रमुख सचिव (पी0डब्लू0डी0), गोरखपुर के जिलाधिकारी, गोरखपुर के मण्डलायुक्त, प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल के संज्ञान में भी लाई गई। लेकिन दु:खद है कोई कार्रवाई नहीं हुई।

 

मुख्य अभियन्ता को चेताया

सांसद ने मुख्य अभियन्ता (पीडब्लूडी) को चेताया कि सरकारी धन पर डकैती डालना बन्द करें। जो भी व्यक्ति सरकारी धन का लूटपाट करेगा उसे जेल के अन्दर जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अविलम्ब कार्य प्रारम्भ नही हुआ तो कार्यदायी संस्था के अधिकारियों समेत सभी दोषियों के खिलाफ स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराकर भारत सरकार से भी इस संदर्भ में कार्यवाहीं करने के लिए लिखा जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button