आडवाणी का छलका दर्द, बोले- कभी सोचा तक न था अटल जी के बिना…

0

नई दिल्ली। आज दिल्ली में हुए भारत रत्न और दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सर्वदलीय प्रार्थना सभा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का दर्द छलक उठा। इस कार्यक्रम में बेहद भावुक होकर आडवाणी ने कहा, “मैंने कई जन सभाओं को संबोधित किया है। लेकिन कभी सोचा नहीं था कि एक बार ऐसी बैठक में बोलना पड़ेगा, जहां अटल जी नहीं उपस्थित होंगे।”

उन्होंने बताया, “मैं खुशकिस्मत हूं कि अटल जी के साथ मेरी दोस्ती 65 साल तक रही, जिसमें मैंने करीब से उन्हें जाना-समझा। साथ काम किया, अपने अनुभवों को साझा किया। फिल्में तक साथ में देखीं और किताबें भी पढ़ीं”।

प्रार्थना सभा में वाजपेयी की दत्तक पुत्री नमिता भट्टाचार्य और नातिन निहारिका भी मौजूद थीं। आगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “अटल जी का जीवन देश के नाम रहा। युवा पीढ़ी में उन्होंने ठाना था कि वह भारतीयों की सेवा के लिए काम करेंगे। राजनीति में जब एक ही पार्टी का दबदबा होता था, उस दौर में वह इस क्षेत्र में उतरे थे।”

पीएम मोदी के मुताबिक, “विपक्ष में उन्होंने कई साल बिताए। लेकिन अपनी विचारधारा के साथ कभी समझौता नहीं किया। उनके प्रयासों से भारत न्यूक्लियर पावर बना और अपने होनहार वैज्ञानिकों के बलबूते देश ने कई सफल परीक्षण किए। वह कभी भी दबाव में नहीं आए, क्योंकि वह अटल थे।”

loading...
शेयर करें