अफगानिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा, ‘तालिबान खुद को अल कायदा से अलग नहीं कर पा रहा’

मास्को: अफगानिस्तान के कार्यवाहक विदेश मंत्री ने तालिबान को निशाने पर लिया है। विदेश मंत्री हनीफ अतमार ने कहा कि तालिबानी आतंकवादी खुद को आतंकवादी समूह अल कायदा से अलग नहीं कर पा रहे हैं।

हनीफ अतमार ने रूसी अखबार रोसिस्काया गजेता से कहा कि दुर्भाग्य से अमेरिका और तालिबानी के बीच दोहा समझौता होने के बावजूद वे (तालिबानी) अल कायदा और विदेशी आतंकवादी समूहों से खुद को अलग नहीं करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि 20 प्रतिशत तालिबान सदस्यों का घर अफगानिस्तान में नहीं हैं।

उल्लेखनी कि अमेरिका और तालिबानी आतंकवादियों ने गत 29 फरवरी को दोहा में शांति समझौता पर हस्ताक्षर किया था। इसके तहत अमेरिकी सैनिकों की धीरे-धीरे वापसी के साथ-साथ अंतर-अफगान वार्ता की शुरुआत करने की बात कही गई है।

इस समझौता ने तालिबानी आतंकवादियों और अफगानिस्तान की सरकार के बीच बातचीत का मार्ग प्रशस्त किया था। लेकिन अभी भी दोनों के बीच तनाव बरकरार है।

यह भी पढ़ें: ‘म्यांमार में ईमानदारी की कमी के कारण रोहिग्याओं के प्रत्यावर्तन में देरी’

यह भी पढ़ें: सीमा विवाद का मुद्दा उठाकर लोगों को बहकाना चाहते हैं अजीत पवार’

Related Articles

Back to top button