अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने काबुल विवि हमले का जिम्मेदार तालिबान को ठहराया

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरूल्लाह सालेह ने काबुल विश्वविद्यालय में हुए हमले के लिए आतंकवादी समूह तालिबान को जिम्मेदार ठहराते हुए मंगलवार को कहा कि इस संबंध में कई सबूत हैं।

काबुल: अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरूल्लाह सालेह ने काबुल विश्वविद्यालय में हुए हमले के लिए आतंकवादी समूह तालिबान को जिम्मेदार ठहराते हुए मंगलवार को कहा कि इस संबंध में कई सबूत हैं। सालेह ने सुरक्षा अधिकारियों के साथ सुबह की अपनी दैनिक बैठकों की जानकारी देने के दौरान इस घटना के संबंध में जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हमलावरों द्वारा इस्तेमाल किए गए हथियार ‘फर्जी’ दाएश के बयान में दिखाए गए हथियारों से मेल नहीं खाते हैं। इस्लामिक स्टेट से जुड़े आतंकवादी संगठन दाएश ने हमले की जिम्मेदारी लेने का दावा किया है।

टोलो न्यूज के मुताबिक सालेह ने कहा कि काबुल यूनिवर्सिटी हमले में मारे गए ‘आतंकवादियों’ के साथ ‘फर्जी’ दाएश बयान में दिखाए गए दो लोगों से मेल नहीं मिलता है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि मारे गये ‘आतंकवादियों’ के पास से मिले बॉक्स में तालिबान का झंडा भी बरामद हुआ है। कक्षाओं की दीवारों पर उनके द्वारा लिखे गए आखिरी शब्द ‘लंबे समय तक तालिबान रहे’ भी इस बात का सबूत है कि तालिबान का ही इस हमले में हाथ है। सालेह ने कहा कि जिस तरह से हमलावरों ने काबुल हमले को अंजाम दिया ठीक उसी तरह खोस्त में फ़तीह ज़वाक नाम के एक नए तालिबान संगठन ने भी कई घातक हमले किए हैं।

ये भी पढ़े : रैली में CM नीतीश पर बरसाए गए पत्थर-प्याज, कहा- खूब फेंको, फेंकते रहो

उन्होंने कहा कि काबुल विश्वविद्यालय में हुए हमले में 19 लोग मारे गये तथा 40 अन्य घायल हो गये। घायलों में से 15 को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गयी है जबकि दो की हालत गंभीर है। इसबीच तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिद ने सालेह के बयान को साफ तौर पर खारिज करते हुए कहा कि यह तालिबान को बदनाम करने की साजिश है।

Related Articles

Back to top button