492 साल बाद श्री रामजन्मभूमि पर जलेंगे दीप, अयोध्या में तीन दिन मनेगा दीपोत्सव

दीपावली की पूर्व संध्या पर होने वाला दीपोत्सव पिछला सभी रिकार्ड तोड़ देगा क्योंकि पांच लाख 51 हजार दीये जलाने की योजना है। मुख्यमंत्री इसे वैश्विक आयोजन बनाने में पूरे जोर शोर से लगे हुये हैं।

अयोध्या : श्री राम की नगरी अयोध्या में इस बार दीपावली बहुत ही खास होने जा रही है क्योंकि 492 साल बाद भगवान श्रीराम की जन्मभूमि दीपों से जगमगायेगी।

कुछ प्रतिबंध के चलते यह पहले संभव नहीं था कि जन्मभूमि परिसर में दीप नहीं जलाये जा सकते थे। अब पिछले पांच अगस्त को मंदिर निर्माण का भूमि पूजन होने के बाद इस बार की दीवाली को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह है। योगी सरकार का यह दीवाली पर चौथा दीपोत्सव है।

दीपावली की पूर्व संध्या पर होने वाला दीपोत्सव पिछला सभी रिकार्ड तोड़ देगा क्योंकि पांच लाख 51 हजार दीये जलाने की योजना है। मुख्यमंत्री इसे वैश्विक आयोजन बनाने में पूरे जोर शोर से लगे हुये हैं। आगामी 11 से 13 नवम्बर तक होने वाले दीपोत्सव की एक एक तैयारी पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजर है।

मुख्यमंत्री ने कहा भी है कि अयोध्या को पूरे विश्व स्तर पर पर्यटक स्थल के तौर पर स्थापित किया जायेगा। साल 2017 से पहले अयोध्या में दीपोत्सव का आयोजन नहीं होता था लेकिन 2017 में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनने के बाद इसकी शुरूआत हुई।

ये भी पढ़ें : कम्प्यूटर बाबा के कम्पयूटरी जाल से 40 एकड़ सरकारी जमीन मुक्त

Related Articles

Back to top button