आखिर क्या है Godrej Group के बटवारे की वजह ?

नई दिल्ली : इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक 4.1 बिलियन डॉलर के ग्रुप Godrej Group ने बिजनेस का बंटवारा करने के लिए औपचारिक प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

क्रॉस होल्डर्स की वजह से Godrej Group के बटवारे का मामला हो गया है पेंचीदा

इस में आदि गोदरेज के बेटे फ़िरोज़शाह गोदरेज एक पक्ष का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि जमशेद दूसरे पक्ष का प्रतिनिधित्व करते हैं, साथ ही गोदरेज एंड बॉयस के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर, पूर्वेज़ केसरी गांधी भी हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि पुनर्गठन के लिए जिन बाहरी सलाहकारों से सलाह ली जा रही है, उनमें निमेश कंपानी, उदय कोटक और कानूनी विशेषज्ञ जिया मोदी और सिरिल श्रॉफ शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : ‘राहुल को पीएम मोदी की ताकत का पता नहीं’ पर प्रशांत किशोर पर कांग्रेस का पलटवार

जानकारों के मुताबिक अगले छह महीने में इस मामले पर फैसला आने की उम्मीद है। इस विवाद की जड़ मुंबई के विक्रोली इलाके में 1000 एकड़ जमीन को लेकर हुई बहस है। इसके अलावा बिजनस स्ट्रैटजी और उसमें नई पीढ़ी के रोल को लेकर भी परिवार में गहरे मतभेद हैं। इस कारण यह पारिवारिक कलह समय के साथ और बढ़ गई।

यह भी पढ़ें : पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना: चीनी का वितरण 18 रूपये प्रति KG निर्धारित दर से होगा

Related Articles