सामूहिक दुष्कर्म के बाद दरिंदों ने काटी छात्रा की जीभ, इलाज के लिए AIIMS रिफर

सामूहिक दुष्कर्म के बाद दरिंदों ने काटी छात्रा की जीभ, नाजुक हालत देख किया AIIMS रिफर

हाथरस: यूपी के हाथरस में 19 साल की छात्रा से हुई दरिंदगी रूह कपा देने वाली है। बीते 14 सितम्बर को पीड़ता के साथ दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसका खुलासा 21 सितम्बर को पीड़िता के होश आने के बाद हुआ। उसका इलाज़ जवाहर लाल नहरू मेडिकल कालेज में चल रहा था। अस्पताल के अधीक्षक ने बताया कि पीड़िता की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है और वह वेंटीलेटर पर है। उसे सोमवार को इलाज के लिये दिल्ली के अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान में भेज दिया गया है। उन्होंने बताया की बच्ची के परिजनों ने उसका इलाज़ दिल्ली में कराने की इच्छा जताई थी। जिसके बाद आज सुबह उसे दिल्ली AIIMS रिफर कर दिया गया है।

बता दें कि बीते 14 सितंबर को हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 19 साल की दलित लड़की चार लोगों ने दुष्कर्म किया था। दुष्कर्म के बाद उसकी बोलती बंद करने के लिए दरिंदों ने उसकी जीभ भी काट दी थी। 14 से 21 सितम्बर तक छात्रा बेहोश थी। 21 सितम्बर को उसे होश आया जिसके बाद आयी मेडिकल रिपोर्ट में उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि हुई।

ये भी पढ़ें : लखनऊ में लूटेरों ने पुजारी की पत्नी को उतारा मौत के घाट, कीमती सामान लेकर हुए फरार

इस मामले पुलिस अधीक्षक विक्रांतवीर ने बताया की लड़की ने दुष्कर्म को लेकर पहले पुलिस को कुछ नहीं बताया था। पर बाद में मजिस्ट्रेट को दिए गए बयान में उसने चार युवकों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया। आरोपी संदीप, रामू, लव कुश और रवि नामक युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस ने भी की थी लापरवाही भरी कार्यवाही –

बता दें कि पुलिसिया कार्यवाही भी इस मामले में कठघरे में थी। इतनी बड़ी वारदात में पुलिस ने भी लापरवाही भरी कार्यवाही पहले की थी। दुष्कर्म की धाराओं में केस ना दर्ज करते हुए पुलिस ने छेड़खानी के आरोप में एक युवक को हिरासत में लिया। इसके बाद उसके खिलाफ धारा 307 हत्या के प्रयास में मामला दर्ज किया था। 7 दिन बाद जब पीड़िता होश आया तब उसने अपनी आपबीती परिवार को बताई। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में तीन और गिरफ्तारियां की।

Related Articles