चीन के चंगुल में फंसा पाकिस्तान, ड्रैगन ने कराची के दो द्वीपों पर जमाया कब्जा

नई दिल्लीः दुनिया के कई देशों को कर्ज जाल में फंसाने वाले चीन ने पाकिस्तान को भी अपना शिकार बना लिया है। ग्वादर पोर्ट, आर्थिक गलियारे के बाद अब चीन ने पाकिस्तान के दो द्वीपों पर भी कब्जा कर लिया है।

दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान के दो द्वीपों बुंदल और बुडो को चीन को सैंपने का फैसला किया है। पाकिस्तान के दक्षिण कराची में स्थित यह द्वीप सामरिक दृष्टि से खासे महत्वपूर्ण हैं। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लंबे समुद्र का हिस्सा इन द्वीपों की दूरी ग्वादर पोर्ट से लगभग 600 किलोमीटर है।

चीन के कर्ज जाल में फंसे पाकिस्तान ने इन द्वीपों को आधिकारिक रूप से चीन को दे दिया है। पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने पाकिस्तान आइलैंड विकास प्राधिकरण के माध्यम से दिए गए विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। जिसके साथ ही इस फैसले को अंतिम मंजूरी दे दी गयी है।

हालांकि पाक सरकार के इस फैसले को लेकर पाकिस्तान की जनता में खासा आक्रोश है। विपक्षी पार्टी सहित जनता पाक सरकार के इस कदम का जमकर विरोध कर रही है।  इस फासले के खिलाफ जियो सिंधी थिंकर्स फोरम ने कहा कि हम अपनी जमीन बेचने नहीं देंगे। गुलाम कश्मीर और बलूचिस्तान की जनता भी कह रही है कि ये सीधेतौर पर चीन का कब्जा है। वहीं इमरान सरकार के इस फैसले के खिलाफ बलूचिस्तान की नेशनल पार्टी ने इसके खिलाफ देश भर में आंदोलन चलाने का एलान कर दिया है।

Related Articles