26/11 हमले में माता-पिता को खोने के बाद पहली बार मुंबई आया मोशे, पीएम मोदी ने दिया था न्योता

0

मुंबई। साल 2008 के 26/11 आतंकी हमले में मां-बाप को खोने वाला मोशे इजरायल से भारत पहुंच गया है। मोशे अपने दादा रब्बी होल्ज़टबर्ग नचमैन का हाथ पकड़कर एयरपोर्ट से बाहर निकला। प्रधानमंत्री मोदी के इजराइल दौरे के दौरान मोशे उनसे मिल चुका है। मोशे ने प्रधानमंत्री से मिलने के बाद कहा था कि वह भारत आना चाहते हैं और वह चबाद हाउस का डायरेक्टर भी बनना चाहते हैं। मोशे के नाना ने प्रधानमंत्री मोदी से तभी कहा था कि जब वह तेरह साल का हो जाएगा तब उसे भारत भेजा जाएगा।

प्रधानमंत्री मोदी जुलाई 2017 में इजराइल दौरे पर थे। उन्होंने उसी दौरान 5 जुलाई को मोशो से मुलाकात की थी। मोदी ने मोशे और उनके परिवार को भारत आने के लिए आमंत्रित किया था। मोशे और उनके परिवार वालों को भारत सरकार की ओर 10 साल का वीजा दिया गया है। इस दौरान वे कभी भी भारत आ सकते हैं।

मोशे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए भारत आया है, हालांकि, अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि उसकी ये मुलाकात कब होगी। मोशे नरीमन हाउस जाएगा, साथ ही वह गेट वे ऑफ इंडिया भी जाएगा। नरीमन हाउस में मोशे के स्वागत के लिए बड़ी तैयारियां की गई है, जिनमें इजारयली डिश भी बनाई गी है। मोशे के दादाजी का कहना है कि वह भारत आकर बेहद खुश है और वह अब भारत में ज्यादा सुरक्षित है।

मोशे के पिता गैवरियल हल्त्जबर्ग, नरीमन हाउस के डायरेक्टर थे। जब आतंकी हमला हुआ था तब मोशे केवल दो वर्ष का था। अपने माता-पिता के शवों के बीच मोशे रोते हुआ मिला था जिसे उसकी दाई मुश्किल से बचाकर लाई थी।

loading...
शेयर करें