IPL
IPL

लखनऊ-नोएडा के बाद अब दो जिलों में लागू पुलिस कमिश्‍नरी सिस्‍टम

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कानपुर और वाराणसी में कमिश्नरेट सिस्टम लागू होने पर चल रहे विचार पर अब सरकारी मुहर लग गई है। यूपी में होने वाले पंचायत चुनावों की अधिसूचना से पहले ही योगी सरकार ने दो जिलों के लिए बड़ा फैसला लिया है। राजधानी लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी (Police commissioner) प्रणाली पहले से ही लागू थी अब और दो शहरों में कमिश्नरी प्रणाली लागू कर दी गई है। मुख्यमंत्री आवास पर गुरुवार को हुई कैबिनेट बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी और कानपुर में पुलिस कमिश्नरी (Police commissioner) सिस्टम लागू करने की मंजूरी दे दी गई है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने जानकारी दी है कि सीएम योगी की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में यह बड़ा फैसला किया गया।

कमिश्नरेट सिस्टम की मिली मंजूरी

कानपुर और वाराणसी में कमिश्नरेट सिस्टम गुरुवार को लागू करने को मंजूरी दे दी गई है। इस दौरान वाराणसी नगर में कमिश्नरेट सिस्टम लागू किया गया और वाराणसी ग्रामीण को आउटर बनाया गया है। ठीक ऐसे ही कानपुर नगर में कमिश्नरेट सिस्टम लागू और कानपुर देहात को आउटर बनाया गया है।गौरतलब है कि पंचायत चुनावों की अधिसूचना से पहले ही योगी सरकार ने ये बड़ा फैसला कर लिया है। पिछले साल जनवरी में प्रदेश सरकार ने राजधानी लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू की थी और अपर पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी की तैनाती की थी।

ये भी पढ़ें : जानिए कहाँ पंखुड़ियां बिछाए आप का इंतज़ार कर रहे हैं Tulip

इस रैंक के अधिकारी बनेंगे कमिश्नर

दो शहरों में कमिश्नरेट सिस्टम लागू होने के बाद खबर आ रही है कि एडीजी रैंक के अधिकारी को कानपुर और वाराणसी में पुलिस कमिश्नर बनाया जाएगा। वाराणसी के 18 और कानपुर के 34 थानो में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होगा। आपको बता दें कि आज गुरुवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कमिश्नरेट सिस्टम के अलावा कुल 21 प्रस्तावों पर मुहर लगी है।

ये भी पढ़ें : कोरोना का आक्रमण हुआ तेज, वैक्सीन लगवाने के बाद भी PGI के निदेशक हुए शिकार

 

Related Articles

Back to top button