पाकिस्तान में इमरान खान के खिलाफ खुला मोर्चा, पाक सत्ता पर फिर लगा सेना की कठपुतली होने का आरोप

नई दिल्लीः पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी सरकार पर पाकिस्तान की सेना के इशारों पर चलने के इल्जाम लगते रहे हैं। इसी कड़ी में उनके अपने ही देश में सत्ता पर सेना की कठपुतली होने के आरोप लग रहे हैं।

दरअसल पाकिस्तान में हाल ही में ‘साथ’ के पांचवे सम्मेलन का आगाज किया गया। ‘साथ’ पाक आधारित एक लोकतांत्रिक संगठन है जिसकी स्थापना पाकिस्तान के पूर्व राजदूत हुसैन हक्कानी मोहम्मद ताकी ने की थी।

इस सम्मेलन में पाकिस्तान की कई मशहूर शख्सियतों ने हिस्सा लिया, जिस दौरान तमाम वक्ताओं ने पाक सरकार पर सेना की कठपुतली होने का आरोप लगाया। पश्तून नेता और पूर्व सीनेटर अफरासियाब खट्टक ने मंच को संबोधित करते हुए कहा कि, पाकिस्तान में अघोषित मार्शल लॉ लागू है। यानी पाकिस्तान सिर्फ कहने के लिए लोकतांत्रिक देश है, मगर असल में वहां सेना ही सरकार चलाती है।

वर्चुअल कांफ्रेंसिंग के द्वारा हुई इस बैठक में पाकिस्तान से निर्वासित कई लोगों ने भी हिस्सा लिया था। जिस दौरान पाकिस्तान सरकार, पीएम इमरान खान और पाक सेना को सवालों के कठघरों में खड़ा किया गया।

गौरतलब है कि इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी पाक सरकार की पोल खोलते हुए पाक सत्ता के सेना के इशारों पर नाचने की बात कबूली थी। जिसके चलते पाकिस्तान सरकार ने नवाज सहित उनके कई करीबियों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर दिया था।

Related Articles