कोरोना से ठीक होने के बाद नहीं होगी समस्या, अपोलो ने शुरू की ये क्लीनिक

अपोलो ने शुरू किया 'पोस्ट-कोरोना रिकवर क्लीनिक'

हैदराबाद : अपोलो अस्पताल समूह ने मंगलवार को उन लोगों के लिये ‘ पोस्ट-कोरोना रिकवर क्लिनिक ‘ शुरू करने की घोषणा की है, जो कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद उभरने वाली समस्याओं से जूझ रहे है और इस तरह के मरीजों को लंबेसमय तक लगातार चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता होती है।
पोस्ट-कोरोना रिकवर क्लिनिक को न्यूरोलॉजिस्ट और इम्यूनोलॉजिस्ट सहित विशेषज्ञों की एक बेहतर टीम द्वारा संचालित किया जायेगा, जो मरीजों को काेरोना वायरस से ठीक हुए मरीजों को बाद में आ रही दिक्कतों को दूर करने में स्वस्थ करने में मदद करेंगे।

अस्पताल ने यहां मंगलवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि शुरूआत में हैदराबाद, चेन्नई, मदुरै, बेंगलुरु, मैसूर, कोलकाता, भुवनेश्वर, गुवाहाटी, दिल्ली, इंदौर, लखनऊ, मुंबई तथा अहमदाबाद में कोरोना की इलाज की सुविधा वाले अपोलो अस्पतालों में ये क्लिनिक खोले जायेंगे। हैदराबाद में यह क्लिनिक जुबली हिल्स, हैदरगुडा, सिकंदराबाद तथा डीआरडीओ स्थित अपोलो अस्पताल में कार्यात्मक होगा।

ये भी पढ़े : राष्ट्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही केंद्र सरकार : राहुल गांधी

कोरोना से ठीक होने के बाद भी कई बीमारी

अपोलो अस्पताल, हैदराबाद के क्षेत्रीय मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वाई सुब्रमण्यम ने कहा ” कोरोना वायरस से ठीक होने वाले 50 फीसदी से अधिक लोगों में सांस लेने में तकलीफ, सीने में दर्द, दिल की बीमारी, जोड़ों में दर्द, आंखाें की समस्या तथा याददाश्त में कमी जैसे लक्षण महीनों बाद भी दिख रहे हैं। हमारे अस्पतालों में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले कईं मरीज विभिन्न लक्षणों के साथ फिर से हमारे पास आ रहे हैं।

ये भी पढ़े : मेरठ से प्रयागराज तक गंगा एक्सप्रेस-वे पर यात्रियों को मिलेंगी सुविधाएं : सतीश महाना

पोस्ट-कोरोना रिकवर क्लीनिक में होगा इलाज

पोस्ट-कोरोना रिकवर क्लीनिक ऐसे मरीजों की स्वास्थ्य समस्याओं को हल करेंगे। साथ ही मरीजों को जरूरत के मुताबिक विशेष देखभाल मुहैया करायेंगे। हमने प्रोटोकॉल तैयार किये हैं और इन मरीजों के लिये उचित उपचार सुनिश्चित करने के लिये चिकित्सकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इन क्लीनिकों से मरीजों को कोरोना वायरस से पूरी तरह से उबरने तथा सामान्य जीवन में तेजी से वापसी करने में मदद मिलेगी। ”

Related Articles

Back to top button