मायावती की मांग के बाद अखिलेश यादव ने साफ़ किये इरादे, सुनकर चौंक उठे सभी

लखनऊ। अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा का सीधा मुकाबला विपक्षी एकता से हैं। उत्तर प्रदेश में इस विपक्षी एकता की कमान समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच में है। लेकिन बीते दिनों जिस तरह से बसपा प्रमुख मायावती ने सीटों के बंटवारे को लेकर आवाज बुलंद की उसे इस इस विपक्षी एकता पर गहरा झटका माना जा रहा था। उधर, सपा मुखिया अखिलेश यादव ने मायावती की इस मांग को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। साथ ही उन्होंने प्रदेश चुनाव को लेकर भी बड़ा ऐलान कर दिया।

अखिलेश यादव ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर अभी बसपा अध्यक्ष मायावती से कोई बात नहीं हुई है। इस मामले में ठीक समय आने पर ही बातचीत होगी। उन्होंने कहा कि किसे कितनी सीटें मिलेंगी इस पर फैसला बातचीत के जरिए किया जाएगा। हम उचित समय पर चर्चा करेंगे। हमने अभी तक कुछ भी फैसला नहीं किया है। हम समाजवादियों का दिल बहुत बड़ा है।

सपा मुखिया ने कहा कि सांप्रदायिक आग, जिसमें कैराना जला दिया गया था, वहां के लोगों ने बीजेपी के खिलाफ वोटिंग करते उस आग को बुझा दिया है। अखिलेश यादव ने इस दौरान बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी मध्य प्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा कि पार्टी छत्तीसगढ़ और झारखंड में भी चुनावी रणनीति को आगे बढ़ाने पर विचार कर रही है।

इस बीच अखिलेश यादव ने मध्य प्रदेश में इसी वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी एक बड़ा बयान दिया है। दरअसल, मध्य प्रदेश में कांग्रेस और बसपा के गठबंधन की ख़बरों के बीच ऐलान किया है कि सपा मध्य प्रदेश में होने वाले चुनाव में सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। अखिलेश यादव ने कहा है कि पार्टी में इस चुनाव की तैयारियां जोरों शोरों से चल रही है।

Related Articles