प्रदर्शन के बाद भाजपा सरकार से नाराज़ लोगों ने कराया धर्म परिवर्तन

हरियाणा। हाल ही में खबर आई है कि हरियाणा में भारी तादाद में दलितों ने धर्म परिवर्तन कर लिया है। परिवर्तन की असली वजह मनोहर लाल की खट्टर की सरकार को बताया जा रहा है। लोगों के कहना है कि सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने में असफल रही है। जिसके बाद से उनकी नाराज़गी बढ़ गई है और उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन कराकर नाराजगी जाहिर की है। बताया जा रहा है परिवर्तन के बाद भारी तादाद में लोगों ने बौध धर्म अपना लिया है।

113 दिन के प्रदर्शन के बाद लोगों ने यह फैसला लिया। दलितों के उठाए गए इस कदम के बाद माना जा रहा है कि सरकार के लिए यह बड़ा झटका है। सरकार पर तंज कसते हुए लोगों का कहना है कि खट्टर सरकार में उनकी बेकद्री हुई है। खबरों की माने तो इससे पहले जाट समुदाय भी खट्टर सरकार के खिलाफ नाराज़गी व्यक्त कर चुका है।

दलित नेता दिनेश खापड़ ने मीडिया को बताया कि बीते 7 मार्च को सरकार से मांग रखी गई थी कि दलितों की मांगें 10-15 दिनों में पूरी की जाएं। 20 मई को सरकार को अंतिम चेतावनी दी गई कि अगर मुख्यमंत्री दलितों की मांगें नहीं मानते हैं तो वे बौद्ध धर्म में चले जाएंगे। जाट समुदाय ने भी नाराज़गी जताते हुए कहा था कि खट्टर सरकार से वह खुश नहीं है, इस सरकार में उनकी कोई कद्र नहीं। इसीलिए वह चुनाव से बीजेपी की कोई भी रैली नहीं होने देंगे।

Related Articles