हाईकोर्ट की फटकार के बाद जागा परिवहन विभाग, खरीदेगा 250 बसें

0

हल्द्वानी। पहाड़ों में आए दिन हो रहे बस एक्सीडेंट पर हाईकोर्ट की फटकार और विपक्ष के हमलों के बाद सरकार की नींद टूटी है। सरकार अब बसों को एक्सीडेंट से बचाने के लिए नई बसें खरीदने जा रही है। ताकि लोगों की जान बचाई जा सके।

Uttarakhand

सूबे की परिवहन व्यवस्था को सुधारने के के लिए परिवहन विभाग 250 नई बसें खरीदेगा। इनमें 150 बसें पहाड़ी इलाकों में चलेंगी तो 100 बसें मैदानी इलाकों में चलेंगी। परिवहन विभाग 10 नई वॉल्वो बसें भी खरीदने जा रहा है।

धूमाकोट और चंबा बस हादसों की तस्वीरों ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था, इससे सरकार के साथ-साथ सूबे की परिवहन व्यवस्था सवालों के घेरे में आ गई थी। इन दोनों हादसों में 64 लोगों की जान चली गई थी। हाईकोर्ट तक ने इस मामले पर सरकार को फटकार लगाई थी। विपक्ष ने तो इसे मुद्दा बनाकर सरकार के लिए मुसीबतें खड़ी कर दीं थीं।

प्रदेश गठन के 17 साल बाद भी सूबे की परिवहन सेवायें सुधरने के बजाए बदतर हो रही है। इतना वक्त गुजरने के बावजूद पहाड़ी इलाकों में बसें नहीं चल रही हैं। जो बसें चल भी रही हैं। वह खस्ताहाल हैं। और आए दिन हादसों को दावत दे देती हैं। अब काफी किरकिरी के बाद सरकार की आंख खुली है, और वह परिवहन विभाग का कायाकल्प करने जा है। जिससे बसों के हादसों को रोका जाए।

खैर देर आयद दुरुस्त आए। सरकार की इस गंभीर मसले पर आंख खुली, और उसमें लोगों की जानों के प्रति चिंता जगी यह सराहनीय है। सुदूर राज्य में सबको बेहतर परिवहन सुविधाएं मुहैया कराने के लिए सरकार को अभी कई और कोशिशें करनी होंगी।

पहाड़ों में आए दिन बढ़ते हादसों के बाद एक तरफ जहां हाईकोर्ट सरकार को फटकार लगा चुका है, वहीं विपक्ष भी इसको लेकर सरकार पर लगातार हमलावर है। हादसों की बात की जाए तो सिर्फ इसी माह में अब तक जहां दर्जनों सड़क हादसें सामने आ चुके हैं। दो बड़ी बस दुर्घटनाओं में 64 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जिसके बाद परिवहन विभाग अब नींद से जागा है और नई बसें खरीदनें की बात कर रहा है।

loading...
शेयर करें