Supreme court की फटकार के बाद Yogi सरकार दोषी अधिकीरियों पर शक्त

court की तरफ से कहा गया है कि सुपरटेक के ट्विन टॉवर्स को ध्वस्त किया जायेगा। सुपरटेक के ये दोनों ही टॉवर 40-40 मंजिला हैं।

लखनऊ: CM योगी आदित्यनाथ ने संबंधित अधिकारियों को नोएडा में सुपरटेक (Supertech) द्वारा बनाए गए ट्विन टावरों के निर्माण में कथित अनियमितता के आरोपी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सुपरटेक एमेराल्ड केस में सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने बड़ा आदेश दिया है। court की तरफ से कहा गया है कि सुपरटेक के ट्विन टॉवर्स को ध्वस्त किया जायेगा। सुपरटेक के ये दोनों ही टॉवर 40-40 मंजिला हैं। Supreme court ने अपने आदेश में कहा कि ये टॉवर नोएडा अथॉरिटी और सुपटेक की मिलीभगत से बने थे।

Supreme court कोर्ट ने अपने आदेश में साफ कहा है कि सुपरटेक अपने ही पैसों से इनको तीन महीने के अंदर तोड़े साथ ही खरीददारों की रकम ब्याज समेत लौटाए। इधर, अथॉरिटी ने अपनी सफाई में कहा है कि कार्रवाई होगी। सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ये फ्लैट्स बिल्डर और नोएडा अथॉरिटी की ‘नापाक’ मिलीभगत की वजह से बने, जिनकी मंजूरी योजना का RWA तक को नहीं पता था।

कोर्ट ने कहा कि सुपरटेक के T16 और T 17 टॉवर्स को बनाने से पहले फ्लैट मालिक और RWA की मंजूरी ली जानी जरूरी थी। साथ ही जब इस नोटिस निकाला गया कि न्यूनतम दूरी की आवश्यकताओं के नियम को तोड़ा गया है तो भी कोई एक्शन नहीं लिया गया। कोर्ट ने माना कि बिल्डर ने मंजूरी मिलने से पहले ही काम शुरू कर दिया था, लेकिन फिर भी नोएडा अथॉरिटी ने कोई एक्शन नहीं लिया।

यह भी पढ़ें: पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का त्रयोदशी संस्कार आज, CM Yogi होंगे उपस्थित

Related Articles