भारत, बहरीन के बीच फार्मा को लेकर हुए समझौते

0

नई दिल्ली| भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और बहरीन के विदेश मंत्री शेख खालिद बिन अहमद बिन मोहम्मद अल खलीफा के नेतृत्व में हुई दूसरे संयुक्त उच्चायोग की बैठक के बाद दोनों देश फार्माश्युटिकल्स को सहयोग का एक प्रमुख क्षेत्र बनाने पर सहमत हो गए। इससे भारतीय स्वास्थ्य देखभाल उद्योग को एक महत्वपूर्ण बढ़ावा मिलेगा। बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान के अनुसार, “बहरीन और भारत स्वास्थ्य देखभाल उद्योग में अवसर तलाशने पर सहमत हुए तथा स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने का स्वागत किया। स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र द्विपक्षीय संबंधों में फार्माश्युटिकल्स को एक प्राथमिकता का क्षेत्र बनाकर दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने में योगदान करेगा।”

सुषमा स्वराज

दोनों देशों ने नवीकरणीय ऊर्जा पर भी एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए। बहरीन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) के लिए सुषमा स्वराज को बधाई दी।

प्रधानमंत्री मोदी तथा फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रैंकोइस ओलांद द्वारा 2015 में पेरिस जलवायु सम्मेलन में आईएसए को लांच किया गया था। इसके तहत देशों की विशेष ऊर्जा जरूरतें पूरी करने के लिए सौर संसाधन संपन्न देशों को एक मंच पर लाने का काम किया गया था तथा आम सहमति से पहचानी गई जरूरतों की खाई पाटने के लिए सहयोग प्रदान करने के लिए एक मंच प्रदान किया गया था।

बयान के अनुसार, भारत और बहरीन ने द्विपक्षीय निवेश की मौजूदा क्षमता तथा सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों में निवेश के लिए अनुकूल माहौल उपलब्ध कराने की इच्छा जताई।

बयान के अनुसार, “दोनों देश निवेश के उपलब्ध अवसरों की जानकारी के नियमित और समय-समय पर आदान-प्रदान पर सहमत हुए।”

बयान के अनुसार, दोनों देशों ने शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास, नवीकरणीय ऊर्जा, अंतरिक्ष सहयोग, पर्यटन, संस्कृति, युवा और खेल, सीमा शुल्क, तेल, गैस और पेट्रोकेमिकल्स, महिला सशक्तिकरण, सुरक्षा, रक्षा और खुफिया प्रशिक्षण तथा विशेषज्ञों का आदान-प्रदान, दोनों देशों के विश्वविद्यालयों के बीच सहयोग तथा खाद्य सुरक्षा, साइबर स्पेस और ऊर्जा के क्षेत्र में शोधकर्ताओं के आदान-प्रदान में सहयोग बढ़ाकर इसके साधन और तरीकों के द्विपक्षीय रिश्तों के पहलुओं पर चर्चा की।

दोनों देशों ने आतंकवाद की हर रूप में निंदा करने की बात दोहराई तथा सभी राज्यों से दूसरे देशों के खिलाफ आतंकवाद का इस्तेमाल अस्वीकारने तथा त्यागने की अपील की।

बयान के अनुसार, “दोनों देश संयुक्त राष्ट्र में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद पर भारत के प्रस्तावित व्यापक प्रथा पर काम करने को सहमत हुए।”

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, “विदेश मंत्री शेख खलीफा ने बहरीन के आर्थिक विकास के लिए वहां बसे भारतीय समुदाय के योगदान की प्रशंसा की।”

बहरीन में लगभग 3,50,000 भारतीय रहते हैं, जो वहां रहने वाले किसी भी अन्य देश के मुकाबले सर्वाधिक नागरिक हैं। 3,000 से ज्यादा भारतीय वहां कंपनियों के मालिक या संयुक्त उपक्रम के भागीदार हैं।

विदेश मंत्रालय से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, भारत और बहरीन के बीच इस फरवरी तक द्विपक्षीय व्यापार 87.5 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया है।

भारत ने बहरीन में जनवरी 2003 से मार्च 2018 के बीच लगभग 1.69 अरब डॉलर का निवेश किया है।

सुषमा स्वराज ने अपनी बहरीन यात्रा के पहले दिन शनिवार को शेख खलीफा के साथ मनामा में भारतीय दूतावास के नए परिसर का उद्घाटन किया।

सुषमा स्वराज ने समारोह में अपने संबोधन के दौरान कहा, “दोनों देशों के आर्थिक क्षेत्र में होने वाले नए विकास हमारे आर्थिक रिश्तों को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।”

loading...
शेयर करें