एम्स के डॉक्टर ने की खुदकुशी,लिखा 60-65 साल जीके क्या करेंगे

दिल्ली: देश के उच्चतम संस्थान एम्स के डाक्टरों के खुदकुशी करने का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है।एम्स के एक और डाक्टर ने 40 साल की उम्र में खुदकुशी कर ली।डाक्टर ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट लिखा।जिसमें लिखा है कि वह 60-65 वर्ष जीकर क्या करेंगे। परिजनों से पूछताछ में पता लगा कि वह डिप्रेशन(अवसाद) से पीड़ित थे। कुछ वर्ष पहले ही उनका इलाज हुआ था। डॉक्टर पहले भी खुदकुशी का प्रयास कर चुके थे।दिल्ली के हौजखास थाने की पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एम्स भेज दिया है। इससे पहले भी एम्स के दो डॉक्टर खुदकुशी कर चुके हैं।

घर से बदबू आने पर हुई लोगों को जानकारी

दक्षिण जिला डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि मूलरूप से पंचकूला, चंडीगढ़ निवासी डा. मोहित सिंगला(40) एम्स में पेडियाट्रिक विभाग में डॉक्टर थे। वह गौतमनगर, हौजखास में अकेले रहते थे। डॉक्टर मोहित यहां पर वर्ष 2006 से अकेले रह रहे थे।उनकी शादी नहीं हुई थी। शुक्रवार दोपहर को उनके घर से बदूब आनी शुरू हुई। तो पुलिस को सूचना दी गई। जब पुलिस ने दरवाजा तोड़कर देखा तो वह फांसी पर लटके हुए थे। उन्होंने चुन्नी के जरिए फांसी लगा रखी थी। शव काफी हद तक सड़ चुका था।पुलिस को उनाके घर से कुछ लाइनों का सुसाइड नोट भी मिला।

 

संभवतः अवसाद ने ली जान

सुसाइड नोट ओर किसी का नाम नहीं लिखा हुआ है। सुसाइड नोट में डाक्टर नें लिखा कि वह 60-65 वर्ष जीकर क्या करेंगे। जीने के लिए 40 वर्ष की उम्र भी बहुत है। अब उनकी जीने की इच्छा खत्म हो गई है।जिससे साफ साफ पता चलता है की डाक्टर गहरे अवसाद में थे।अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद भी डिप्रेसन पर काफी चर्चा पूरे देश में हुई थी।

 

 

Related Articles