हवाई यात्रा करना हुआ महंगा, केंद्र ने लिया फैसला  

हवाई यात्रा  ( Air travel ) करने वाले यात्रियों को अब यात्रा करने के लिए पहले से अधिक धनराशि देना पड़ेगा

नई दिल्ली: हवाई यात्रा  ( Air travel ) करने वाले यात्रियों को अब यात्रा करने के लिए पहले से अधिक धनराशि देना पड़ेगा क्योंकि नागरिक उड्डयन मंत्रालय ( Ministry of Aviation ) ने घरेलू हवाई किराए में इज़ाफा किया है। निचली और उपरी सीमा ( Upper limit ) को 30 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है।

हवाई किराए की दरें के आधार पर वर्गीकृत सात बैंड के माध्यम से उड़ान का समय रखा गया है। पहले बैंड में उन उड़ानों को रखा गया है जो उड़ाने 40 मिनट से कम अवधि की है।

30 प्रतिशत तक बढ़ा

पहले बैंड की निचली सीमा पहले 2000 रुपए थी लेकिन अब इसको बढ़ाकर 2200 रुपए कर दिया गया है। इस बैंड की उपरी सीमा पहले 6000 रुपए थी लेकिन अब इसको बढ़ाकर 7,800  कर दिया गया है।

हवाई यात्रा
हवाई यात्रा

इसके बाद के सभी बैंड 40-60 मिनट, 60-90 मिनट, 90-120 मिनट, 120-150 मिनट, 150-180 मिनट और 180-210 मिनट की अवधि वाले उड़ानों के लिए हैं।

कोरोना ( Corona ) की महामरी से निपटने के लिए लगभग दो महीने के निलंबन के बाद घरेलू यात्री सेवाएं 25 मई को फिर से शुरू हुईं। हवाई किराए की सीमा के साथ, सरकार ने एयरलाइनों को अपनी पूर्व-सीओवीआईडी ​​घरेलू उड़ानों के 33 प्रतिशत से अधिक नहीं संचालित करने के लिए कहा था।

26 जून को कैप को बढ़ाकर 45 फीसदी कर दिया गया था। इसे धीरे-धीरे बढ़ाकर 80 फीसदी कर दिया गया। मंत्रालय ने कहा कि 80 प्रतिशत की सीमा मार्च के अंत तक लागू रहेगी।

यह भी पढ़ें: ‘राष्ट्रपति भवन’ के ऐतिहासिक ‘मुगल गार्डन’ में 13 फरवरी से जनता को मिलेगी एंट्री

Related Articles

Back to top button