दिल्ली की बढती हिंसा को काबू करने के लिए सामने आए अजीत डोभाल

नई दिल्ली:दिल्ली में लगातार बढ़ रही हिंसा को रोकने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार(एनएसए) अजित डोभाल सामने आए है। इसके साथ ही डोभाल ने कहा कि राजधानी में कानून व्यवस्था की कोई कमी नहीं होगी। वह प्रधानमंत्री और कैबिनेट को दिल्ली के हालात के बारे में जानकारी देंगे। डोभाल ने कल रात जाफराबाद, सीलमपुर और उत्तर-पूर्वी दिल्ली के अन्य इलाकों का दौरा किया था। वहां उन्होंने विभिन्न समुदायों के नेताओं से भी बातचीत की थी।

दिल्ली में हिंसा को नियंत्रण में रखने के लिए पुलिस और अर्धसैनिक बलों खुली छूट दे दी गई है।गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों में मंगलवार को फिर हिंसा भड़क गई, जहां उपद्रवियों ने पथराव किया, दुकानों में तोड़फोड़, फायरिंग और आगजनी की। बढ़ती हिंसा को देखते हुए पुलिस ने उपद्रवियों को गोली मारने का आदेश दिया।

अब तक की  हिंसा में एक हेड कांस्टेबल समेत 17 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 186 लोग घायल हैं। वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसएस) हालात का जायजा लेने देर रात सीलमपुर डीसीपी कार्यालय पहुंचे। इसके साथ ही डोभाल मंगलवार रात करीब साढ़े 11 बजे तक सीलमपुर में डीसीपी कार्यालय में पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की जहां पर मौजूदा हालात के बारे में जानकारी ली। बैठक में विशेष कमिश्नर सतीश गोलचा समेत कई अधिकारी शामिल हुए।

इसके साथ ही अजीत डोभाल ने मीटिंग के बाद अपनी गाड़ी से सीलमपुर, भजनपुरा, मौजपुर, यमुना विहार जैसे हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया।

Related Articles