अखिलेश ने बीजेपी पर लगाया आरोप, कहा- लोकतंत्र का अपहरण कर चाहती है कारपोरेट व्यवस्था

0

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को बड़ा हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी समाज को बांटने की राजनीति कर रही है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा देश में लोकतंत्र का अपहरण कर कारपोरेट व्यवस्था लागू करना चाहती है।

मंगलवार को पार्टी के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि भाजपा संकीर्णता को बढ़ावा देकर समाज को बांटने की राजनीति कर रही है। वह ग्रामीण अर्थव्यवस्था बर्बाद करने पर तुली है। उन्होंने कहा कि भाजपा की जनविरोधी और सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने वाली नीतियों को रोकने की जिम्मेदारी समाजवादियों की है। नौजवानों को इसमें अग्रणी भूमिका निभानी है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेशभर से आए लोहिया वाहिनी के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस मौके पर पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने किसान, नौजवान सबके साथ धोखा किया है। लोकतंत्र में धोखा देना या गुमराह करना महापाप है और वादाखिलाफी भी एक तरह का भ्रष्टाचार है, जो भाजपा राज में खूब फल-फूल रहा है।

सपा प्रमुख ने कहा कि इसलिए अब देश की जनता बदलाव चाहती है। जनता चाहती है कि नया प्रधानमंत्री बने। देश में भय का जो माहौल बनाया जा रहा है, उससे मुक्ति मिले। उन्होंने फिर बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग उठाई और कहा कि देश में स्वतंत्र एवं पारदर्शिता के साथ निष्पक्ष चुनाव के लिए ईवीएम से नहीं, बैलट पेपर से ही होना चाहिए।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने चुनाव में वादा किया था कि अगर उनकी सरकार बनती है तो वो बिना भेदभाव नौजवानों को लैपटॉप देंगे, लेकिन दो बजट और एक अनुपूरक बजट आने के बाद भी भाजपा ने लैपटॉप नहीं बांटे। सपा सरकार ने जो 18 लाख लैपटॉप बांटे थे, उस पर भाजपा को शिकायत है तो वह उसके लाभार्थियों की सूची जारी क्यों नहीं करती?

अमर सिंह के आरोप कि समाजवादी पार्टी ‘नामाजवादी पार्टी’ है के सवाल पर अखिलेश ने कहा, ‘हमारे प्रोडक्ट भाजपा वाले प्रोडक्ट नहीं हैं।’ अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी 19 सितंबर से साइकिल यात्रा करने जा रही है। जिस एक्सप्रेसवे पर सुखोई और मिराज उतरा था, उसपर नौजवान साइकिल चलाकर भाजपा के झूठ का पदार्फाश करेंगे।

loading...
शेयर करें