अखिलेश ने चित्रगुप्त जयंती पर कायस्थ समाज को दी बधाई

अखिलेश ने कहा कि भगवान चित्रगुप्त ही मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा रखते हैं। यह वह दिन है जब भगवान चित्रगुप्त जी का उद्भव ब्रह्मा जी के द्वारा हुआ था। कई कायस्थ राजवंश सत्ता में भी रहे हैं।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज चित्रगुप्त जयंती के अवसर पर भगवान चित्रगुप्त के चित्र पर माल्यार्पण किया और कायस्थ समाज को बधाई देते हुए उनके सुख समृद्धि की शुभकामना की।

अखिलेश ने कहा कि भगवान चित्रगुप्त ही मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा रखते हैं। आज भाई दूज के दिन चित्रगुप्त जयंती पर कलम-दवात की पूजा का भी विधान है। यह वह दिन है जब भगवान चित्रगुप्त जी का उद्भव ब्रह्मा जी के द्वारा हुआ था। कई कायस्थ राजवंश सत्ता में भी रहे हैं।

इस अवसर पर समाजवादी पार्टी के सचिव राजेन्द्र चौधरी ,दीपक रंजन, नीरज सक्सेना, संतोष श्रीवास्तव तथा अमित सक्सेना भी मौजूद थे।

कायस्थ समाज ने चित्रगुप्त जयंती पर की विधि विधान से पूजा

यूपी के जौनपुर में कायस्थ समाज ने रुहट्टा के श्री चित्रगुप्त मंदिर में एकत्रित होकर भगवान चित्रगुप्त की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर हवन पूजन किया।

इस अवसर पर राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि पाप पुण्य के अनुसार न्याय करने वाले न्यायकर्ता यमराज भी चित्रगुप्त महाराज के आज्ञा पालक है। चित्रगुप्त एक प्रमुख हिन्दू देवता है। जिस प्रकार शनिदेव सृष्टि के प्रथम दण्ड अधिकारी है, उसी तरह भगवान चित्रगुप्त सृष्टि के प्रथम न्यायाधीश है।

उन्हें न्याय का देवता माना जाता है। प्रत्येक कायस्थ को भगवान चित्रगुप्त की फ़ोटो अपने घर मे रखनी चाहिए। भगवान चित्रगुप्त के हाथों में कर्म की किताब व कलम दवात है।

ये भी पढ़ें : चित्रगुप्त पूजा की पूर्व संध्या पर स्लम एरिया के बच्चों को वितरित की गयी शिक्षण सामग्री

 

Related Articles

Back to top button