अखिलेश सरकार की यह नई पहल लाएगी यूपी में इन्वेस्टमेंट

2012_3$img09_mar_2012_pti3_9_2012_000065bकानपुर। उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए यूपीएसआईडीसी एक नई पहल करने जा रहा है। यूपी के छह शहरों में इन्वेस्टमेंट जोन बनाकर देश विदेश के उद्यमियों को निमन्त्रण दिया जायेगा। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा भी इस पहल को हरी झंडी दे दी है।

यह इन्वेस्टमेंट जोन स्थापित हो जाने पर यूपी के उद्योगों के विकास को तेज गति मिलेगी। देश के बड़े उद्योगपतियों को यहां प्लांट लगाने पर तमाम सहूलियतें मिलेंगी। सभी जोन को अलग अलग नाम दिया जायेगा। इससे उस क्षेत्र के लोगों को बड़े पैमाने पर रोजगार भी मिलेगा। वहीं अपरोक्ष रूप से भी लाखों लोग जुड़ेंगे। यह जोन जिस शहर से जुड़ेंगे, वहां की प्रसिद्ध चीज के उत्पाद की यूनिट भी इनमें स्थापित की जायेगी। यह सभी जोन अमृतसर से कोलकाता फ्रेंट कॉरिडोर के रूट पर पड़ने वाले शहरों में स्थापित किये जायेंगे। यूपीएसआईडीसी के एमडी मनोज सिंह ने बताया कि इन्वेस्टमेंट जोन के लिए भूमि चिन्हित की जा रही है। बहुत जल्द अधिग्रहण की अधिसूचना जारी की जायेगी।

यहां पर स्थापित होंगे

कानपुर लाजिस्टिक हब

इस जोन के लिए कानपुर व उन्नाव क्षेत्र में छह हजार हेक्टेयर भूमि प्रस्तावित है। इस जोन में अभी पनकी, रनियां, जैनपुर, सुमेरपुर, मलवां तथा रूमा आदि इंडस्ट्रियल स्टेट पहले से ही हैं। यहां प्लास्टिक, फर्टिलाइजर, फार्मास्युटिकल, औद्योगिक मशीनरी, टेक्सटाइल, आईटी व बिजली उत्पादक यन्त्र बनाने वाले प्लांट लगाये जायेंगे।

पश्चिमांचल इन्वेस्टमेंट जोन

इस जोन के लिए मुजफ्फर नगर, बेगराजपुर, मेरठ व मोदीनगर में स्थान चिन्हित किया गया है। करीब छह हजार हेक्टेयर भूमि की जरूरत होगी। यहां फ़ूड प्रोसेसिंग, आयरन, स्टील, चीनी, खेलकूद, कृषि यन्त्र व स्प्रिट आदि की यूनिटें लगेंगी।

ब्रज इन्वेस्टमेंट जोन

यह जोन खुर्जा, अलीगढ़, मथुरा व आगरा में दो हजार हेक्टेयर में स्थापित होगा। यहां फ़ूड प्रोसेसिंग, मीट प्रोसेसिंग, आयरन व स्टील, बिजली व चीनी मिटटी के बर्तनों आदि की फैक्ट्रियां लगेंगी।

इटावा- कन्नौज- औरैया जोन

यह जोन छह हजार हेक्टेयर में स्थापित होगा। यहां भी फ़ूड व मीट प्रोसेसिंग, आयरन व स्टील, बिजली उत्पादन यन्त्र व चीनी मिटटी के बर्तन आदि के प्लांट लगेंगे।

इलाहबाद- नैनी- बारा जोन

यह जोन इलाहबाद में स्थापित होगा। यहां नैनी, बरगढ़ व मेजा पहले से ही औद्योगिक क्षेत्र है। यहां बिजली उत्पादक यन्त्र, सीमेंट, आईटी, ग्लास पार्ट्स आदि की यूनिटें लगेंगी।

मुगलसराय- वाराणसी- मिर्जापुर जोन

छह हजार हेक्टेयर में स्थापित होने वाले इस जोन में रामनगर, सिधवन, मऊ आदि इंडस्ट्रियल क्षेत्र पहले से हैं। यहां टेक्सटाइल, आयरन व स्टील, प्लास्टिक, हैंडीक्राफ्ट व हैण्डलूम की यूनिटें लगेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button