भाजपा ने कहा- अखिलेश सपा संभालने में हैं अक्षम, दे देना चाहिए अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पूर्व सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव न तो पार्टी संभाल पा रहे हैं और न ही पार्टी के नेताओं को। ऐसे अक्षम नेता को पार्टी के मुखिया पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। यह कहना है यूपी इकाई के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष और सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या का. अपने वक्तव्य में उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव के चेहरे से लगता है कि वह डिप्रेशन में है।

केशव प्रसाद शनिवार को जनसुनवाई के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे।  इस दौरान उन्होंने कहा कि पार्टी को मजबूत करने के लिए जो भी अच्छे लोग आएंगे उनको भाजपा में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव जब अपनी पार्टी, नेताओं और कार्यकर्ताओं को नहीं चला पा रहे हैं तो ऐसे अक्षम सपा पार्टी मुखिया को अपना पद छोड़ देना चाहिए।

सूबे के कई जनपदों में आई बाढ़ पर केशव ने कहा कि हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता उत्तर प्रदेश के 22 करोड़ जनता की जीवन में खुशहाली लाना है। अगर बाढ़ है तो बाढ़ के संकट से मुक्ति करा कर उनको सेवा कैसे मिले। इन सभी दिशाओं में हमारी सरकार बड़ी ईमानदारी के साथ प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें: राजग में शामिल होते ही जदयू को भाजपा ने दिया बड़ा तोहफा…

अखिलेश द्वारा बाढ़ इलाकों में मुख्यमंत्री योगी के दौरों पर दिए बयान पर मौर्य ने कहा कि सपा मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश इस समय डिप्रेशन में है। उनका चेहरा ही बताया करता है कि वह तनाव में है और तनाव में उनको इस बात का ध्यान नहीं रहता कि वह उस बात को उठाने का प्रयास कर रहे हैं, जो समस्या उनकी सरकार की देन है।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से धमकी मिलने के सवाल पर केशव ने कहा कि उप्र सरकार प्रदेश की 22 करोड़ जनता की सुरक्षा करने के लिए पूरी तरह से सक्षम है।

यह भी पढ़ें: आखिरी दिन अचानक बंद हुई GST की वेबसाइट, व्यापारियों में हड़कंप

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि केजीएमयू व अन्य किसी भी संस्थान में भ्रष्टाचार उजागर होता है या फिर वह किसी भी माध्यम से सरकार की जानकारी में आता है। उत्तर प्रदेश सरकार तत्काल कानूनी कार्रवाई करेगी और भ्रष्टाचार करने वाले को भी किसी भी तरह से माफ नहीं किया जाएगा।

loading...
शेयर करें