पीड़ितों से मिलने किसी भी वक़्त उन्नाव पहुँच सकते है अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav )

अखिलेश यादव के जाने की खबर के बाद से उन्नाव में सपा नेताओ व कार्यकर्ताओ ने ग्रामीणों के साथ धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

उन्नाव: उत्तर प्रदेश का उन्नाव शहर एक बार फिर चर्चा का विषय बन चुका है। यहां तीन दलित नाबालिग लड़कियां बबुरहा गांव के खेत में दुपट्टे से बंधी मिली थीं। इनमें से 2 लड़कियों की मौत हो गई जबकि 1 लड़की को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जो ज़िन्दगी और मौत की जंग लड़ रही है। अब खबर आई है कि अखिलेश यादव कभी भी उन्नाव पहुँच सकते है।

इस घटना के बाद पुलिस ने बबुरहा गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। उन्नाव जिले में थानों की फोर्स को तैनात किया गया है। ताकि किसी भी तरह से माहौल बिगड़ने न पाए लेकिन इस घटना के बाद से विपक्ष के नेताओ ने सरकार पर हमला बोलना शुरू कर दिया है। इस बीच खबर आ रही है कि अखिलेश यादव किसी भी वक्त पीड़ितों से मिलने के लिए उन्नाव पहुंच सकते हैं। यह खबर आते ही पुलिस प्रशासन और भी ज़्यादा अलर्ट हो चुका है।

ज़हर से हुई थी लड़कियों की मौत
ज़हर से हुई थी लड़कियों की मौत

अखिलेश यादव के जाने की खबर के बाद से उन्नाव में सपा नेताओ व कार्यकर्ताओ ने ग्रामीणों के साथ धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है।  अब देखना यह होगा कि अखिलेश यादव घटनास्थल पर पहुँचते है या नहीं। अगर बात करे विपछ के नेताओ की तो देश के बड़े नेता और सेलिब्रिटी सोशल मीडया पर लगातार बीजेपी पर हमला बोल रहे है।

क्या है पूरा मामला 

आपको बतादें कि ताज़ा मामला उन्नाव का है बुधवार रात तीन नाबालिग दलित लड़कियां खेत में दुपट्टे से बंधी पड़ी मिलीं। इनमें दो लड़कियों की मौत हो चुकी है जबकि तीसरी अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है। दोनों मृतक दलित नाबालिग लड़कियों का पोस्टमार्टम हो चुका है। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर्स का कहना है कि दोनों लड़कियों की मौत जहरीला पदार्थ खाने से हुई है। दोनों ने मौत से करीब 6 घंटे पहले खाना खाया था। इनके पेट में 100 से लेकर 80 ग्राम तक खाना मिला है। डॉक्टर्स का कहना है कि खाने में जहर होने की वजह से मौत हुई है।

यह भी पढ़े: उन्नाव मामला: ज़हर से हुई थी लड़कियों की मौत, पोस्टमार्टम में हुए कई बड़े खुलासे

Related Articles

Back to top button