अखिलेश ने पिता को मजबूर कर सत्ता पर किया कब्ज़ा…पढ़ें क्या है मामला

0

लखनऊ। पिछले चार दिनों से यूपी की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है। अमित शाह के लखनऊ आगमन से पहले समाजवादी पार्टी के दो एमलसी ने पार्टी छोड़ दिया और भाजपा में शामिल हो गए। बुक्कल नवाब और यशवंत सिंह का पार्टी छोड़ना अखिलेश को तगड़ा झटका माना जा रहा है। इन दोनों नेताओं के पार्टी छोड़ने के बाद सपा में हंगामा मचा हुआ। वहीँ इस मामले में सपा के पूर्व महासचिव और राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने अपनी चुप्पी तोड़ी है।

अमर सिंह ने कहा कि पार्टी पहले जैसे नहीं रही, हालत बादल गए हैं

अमर सिंह ने कहा कि मुलायम सिंह यादव के बिना समाजवादी पार्टी का भविष्य अँधेरे में है। उन्होंने अखिलेश पर आरोप लगाया कि पार्टी पहले जैसे नहीं रही, हालत बादल गए हैं इसलिए लोग पार्टी छोड़कर बहार जा रहें हैं। समाजवादी पार्टी को एक ही इंसान आगे ले जा सकता है वो हैं सिर्फ नेता जी।

उन्होंने कहा कि लोग कह रहे है कि समाजवादी पार्टी अब पहले जैसी नहीं रही इसीलिए नेता उससे दूर हो रहे है। समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय पार्टी बनी है उसके लिए मैंने और मुलायम सिंह ने बहुत मेहनत की थी। इतना ही नहीं अमर सिंह अखिलेश को औरंगजेब बताया। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव औरंगजेब है जिनके सिर में सत्ता चली गयी है।

ये भी पढ़ें: संसद में मुलायम ने सांसदों से पूछ लिया ऐसा सवाल कि सबकी बोलती हो गई बंद

साथ ही उन्होंने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तुलना शाहजहाँ से भी की। जैसे औरंगजेब ने पिता शाहजहाँ को कैद कर सत्ता ली थे वैसा उन्होंने भी किया। उन्होंने कहा कि मैंने हर कदम पर अखिलेश का साथ दिया। जब उनके पिता शादी के खिलाफ थे तब मैंने उनका शत दिया उनकी शदी करायी। उन्होंने कहा कि अखिलेश को सत्ता मिली लेकिन वो सम्भाल नहीं पाए।

loading...
शेयर करें