ममता के लिए वोट मांग सकते है अखिलेश यादव, जल्द हो सकते है बंगाल के लिए रवाना

पश्चिम बंगाल: पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को खुला समर्थन दे चुके समाजवादी पार्टी के नेता पुरबिया वोटरों को साध रहे हैं। सपा उनके बीच में तूणमूल कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने में जुटी है। अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा मुखिया अखिलेश यादव के पश्चिम बंगाल में जाने की संभावना है।

सपा के उपाध्यक्ष किरणमय नंदा अपनी टीम के साथ ममता बनर्जी के पक्ष में चुनाव प्रचार की कमान संभाले हुए हैं। विदित हो कि पश्चिम बंगाल में पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग रोजीरोटी की तलाश में गए हैं, जोकि अब वहीं के निवासी बन गए। लेकिन उनका जुड़ाव अपनी माटी से अभी भी बना हुआ है। बताते हैं कि उनमें काफी संख्या में समाजवादी पार्टी के समर्थक भी हैं।

पार्टी नेताओं के मुताबिक सपा अपने समर्थकों के बीच तृ़णमूल कांग्रेस को जिताने के लिए जोर-शोर से प्रचार प्रसार कर रही है। सपा के प्रवक्ता व एमएलसी सुनील सिंह साजन ने बताया कि जिस तरह से भाजपा मतदाताओं के बीच वोटों का धुर्वीकरण कर रही है वह न तो पश्चिम बंगाल की जनता के लिए ठीक है और न ही देश के लिए। इसलिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तृणमूल कांग्रेस को पहले ही समर्थन देने का ऐलान कर दिया था।

उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल में कई विधानसभा सीटें हैं, जहां सपा का वोट प्रतिशत चुनाव नतीजों को कुछ हद तक प्रभावित कर सकता है। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा उक्त सीटों पर त़ृमणूल के पक्ष में माहौल बनाने में जुटे हैं। किरणमय नंदा और सपा कार्यकर्ता अखिलेश यादव की सभा कराने की मांग कर चुके हैं। उनका अभी कार्यक्रम तय नहीं हुआ है, लेकिन वह पश्चिम बंगाल जा सकते हैं।

पुरबियों के बीच लोकप्रिय हैं अखिलेश

समाजवादी पार्टी ने जब कोलकाता में राष्ट्रीय अधिवेशन रखा था उस समय बड़ी संख्या में वहां रहने वाले उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों ने अखिलेश यादव का स्वागत किया था। उसके बाद से अखिलेश यादव व उनकी टीम वहां के युवाओं से लगातार संपर्क में थे। पहले पार्टी ने वहां विधानसभा चुनाव लड़ने का भी मन बनाया था लेकिन अंतिम समय में तृणमूल कांग्रेस को समर्थन दे दिया।

यह भी पढ़ें: सोने का पिंजरा बन चुका है China,जहाँ सबकुछ है सिवाए लफ़्ज़ों की आज़ादी के

Related Articles

Back to top button