खुलासा : जानिए देश के किन राज्यों तक पहुंच गया अलकायदा

terrorist

नई दिल्ली। जेल में बंद इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के कमांडर यासीन भटकल से पूछताछ से मिले सुराग के आधार भारत में पहली बार अल-कायदा गैंग का भंडाफोड़ किया गया है। हालांकि, सुराग मिलने के बाद इस कार्रवाई को अंजाम देने में 27 महीने का वक्त लगा। अल-कायदा के खिलाफ अभियान का दायरा चार राज्यों में फैला हुआ है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में अल-कायदा से जुड़े तीसरे आतंकवादी और फाइनेंसर जफर मसूद को पकड़ा है

यासीन भटकल ने अगस्त 2013 में अपनी गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में बताया था कि अफगानिस्तान में रहने वाला एक भारतीय इस उपमहाद्वीप में अल-कायदा के ऑपरेशंस संभाल रहा है और यूपी से ताल्लुक रखने वाला एक शख्स भारत में इस आतंकी संगठन के ग्राउंड ऑपरेशंस की निगरानी कर रहा है।

इस भारतीय शख्स की पहचान सनाउल हक उर्फ मौलाना असीमा उमर के तौर पर की गई है, जो उत्तर प्रदेश के संभल का निवासी है। अल-कायदा के मौजूदा हेड अयमान-अल-जवाहिरी ने उसे भारतीय उपमहाद्वीप का अमीर नियुक्त किया था। भारत में अल-कायदा का ऑपरेशन देखने वाले शख्स की पहचान मोहम्मद आसिफ के तौर पर की गई है और वह भी संभल का ही निवासी है।

ये भी पढ़े : अलकायदा का भारत का मुखिया गिरफ्तार

भारतीय उपमहाद्वीप (एक्यूआईएस) में अल-कायदा का ढांचा चार राज्यों में फैला है। इनमें पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश,  उड़ीसा और कर्नाटक शामिल हैं। उड़ीसा के शहर कटक से मंगलवार को अब्दुल रहमान को गिरफ्तार किए जाने के बाद आसिफ को गिरफ्तार किया गया था। रहमान का भाई ताहिर अली पहले से जेल में है। उस पर कोलकाता के अमेरिकी सेंटर पर 2001 में हुए हमले के दोषियों को मदद करने का आरोप है।

इससे भी अल-कायदा से जुड़ी भारतीय उपमहाद्वीप की इकाई और इंडियन मुजाहिद्दीन के बीच करीबी लिंक का पता चलता है। दरअसल, आमिर रजा खान और आफताब अंसारी ने अमेरिकी सेंटर पर हमले की साजिश रची थी और बाद में आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन भी बनाया, जिसमें यासिन भटकल भी मेंबर था।

ये भी पढ़े : अलकायदा के इंडिया चीफ की गिरफ्तारी के बाद 10 युवक IB के रडार पर

यासीन ने पूछताछ में यह भी बताया कि इंडियन मुजाहिद्दीन का मेंबर रियाज भटकल अल-कायदा के अहम सरगना से मुलाकात के लिए अफगानिस्तान गया था। आसिफ ने भी गिरफ्तार होने के बाद इसकी पुष्टि की।

आसिफ ने बताया, ‘जब मैं आसिम उमर से मिलने अफगानिस्तान गया था, तो कराची से आए एक शख्स और इंडियन मुजाहिद्दीन के चीफ रियाज भटकल यहां आया था और उसने भारत में मुजाहिद्दीन के ऑपरेशन से अल-कायदा से मदद मांगी थी।’ आसिफ ने जिन अल-कायदा ज्वाइन करने वाले जिन दो और भारतीयों की पहचान की, उनमें उसमान उर्फ असद और सैयद अख्तर उर्फ कासिम शामिल हैं। दोनों संभल के रहने वाले हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button