बातचीत के जरिये किसानों के सभी मुद्दों का हल निकल सकता है: उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को कहा कि किसानों के सभी मुद्दों का हल बातचीत के जरिये ही निकल सकता है। उपराष्ट्रपति ने हैदराबाद में अपने निवास पर किसान दिवस पर प्रगतिशील किसानों के एक दल से मुलाकात की।

नई दिल्ली: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को कहा कि किसानों के सभी मुद्दों का हल बातचीत के जरिये ही निकल सकता है। उपराष्ट्रपति ने हैदराबाद में अपने निवास पर किसान दिवस पर प्रगतिशील किसानों के एक दल से मुलाकात करते हुए कहा कि सरकार ने पहले ही बता दिया है कि वह किसान संगठनों के साथ संवाद के लिए सदैव तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि बातचीत से सभी समस्याओं का समाधान निकल सकता है इसलिए किसानों को बातचीत के लिए आगे आना चाहिए। देश की प्रगति और खाद्य सुरक्षा कृषि पर निर्भर हैं, अतः ज़रूरी है कि कृषि को संरक्षित किया जाए और उसे लाभकारी बनाया जाये। किसानों की आमदनी दुगुनी करने के लिए सरकार के कदमों की चर्चा करते हुए नायडू ने कृषि की उत्पादकता बढ़ाने और उसे मौसम परिवर्तन के अनुकूल बनाने की आवश्यकता पर बल दिया।

ये भी पढ़ें : जब से आई भाजपा सरकार तब से बिगड़ रहे रूस से संबंध: राहुल गांधी 

उन्होंने फसल विविधीकरण और जैविक खेती को बढ़ाने पर भी जोर दिया। इस संदर्भ में उन्होंने प्रशीतन गृह श्रंखला, भंडारण, कृषि माल ढुलाई तथा कृषि विपणन के लिए जरूरी बुनियादी ढांचा मजबूत करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि ‘ई-नाम’ प्लेटफॉर्म से कृषि उत्पादों के लिए वृहत्तर बाज़ार उपलब्ध हो सकेगा।

ये भी पढ़ें : खालिस्तानी आतंकी गुरजीत सिंह निज्जर दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार

किसानों को पूरक आमदनी के साधन खोजने का आग्रह किया

एक अध्ययन को उद्धृत करते हुए उपराष्ट्रपति ने किसानों को पूरक आमदनी के साधन खोजने का आग्रह किया। अध्ययन के अनुसार जिन इलाकों में किसानों ने अपने घर के पास ही मुर्गी पालन का व्यवसाय शुरू किया है, वहां किसानों की आत्महत्या किए जाने की घटनाएं नहीं हुई हैं।

Related Articles

Back to top button