हरियाणा के सभी पेट्रोल पंप किसान आंदोलन के समर्थन में 8 दिसंबर को रहेंगे बंद 

पेट्रोलियम डीलर जहां किसान आंदोलन का समर्थन करते है वहीं किसानों के साथ कंधे से कंधा मिला कर आठ दिसंबर को भारत बंद की घोषणा के मद्देनजर हरियाणा के सभी 3468 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे।

पानीपत: हरियाणा के पानीपत में रविवार को हरियाणा पेट्रोलियम डीलर वेलफेयर एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय कोर ग्रुप की बैठक में डीलरों (पेट्रोल पंप संचालकों) ने किसान संगठनों द्वारा आठ दिसंबर को घोषित भारत बंद का समर्थन करने की घोषणा करते हुए अपने सभी पेट्रोल पंप बंद रखने का फैसला लिया है।

कृषि कानून किसान हितैषी नहीं बल्कि विरोधी है

एसोसिएशन के चेयरमैन संजीव चौधरी ने आज आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि, “भारत कृषि प्रधान देश है और तीन कृषि कानूनों के विरोध में देश का किसान आंदोलनरत हैं। इससे यह साबित होता है कि कृषि कानून किसान हितैषी नहीं बल्कि विरोधी है।” उन्होंने कहा कि “पेट्रोलियम डीलरों का जहां 40 प्रतिशत कारोबार किसानों के माध्यम से चलता है। वहीं देश का हर उद्योग कृषि आधारित है।”

‘हरियाणा पेट्रोलियम डीलर वेलफेयर एसोसिएशन किसान आंदोलन के समर्थन में सदैव तत्पर’

उन्होंने कहा कि “खेती देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। इसके मद्देनजर हरियाणा पेट्रोलियम डीलर वेलफेयर एसोसिएशन तन मन धन से आंदोलनरत किसानों का समर्थन करती है।”  संजीव चौधारी ने कहा कि “आंदोलनरत किसान दिल्ली के चारों ओर बैठा हुआ है। वहीं हर औद्योगिक कार्य दिल्ली के माध्यम से होता है। सडकें जाम होने के कारण उद्योग धंधे प्रभावित हो रहे है।”

‘केन्द्र सरकार को किसानों के आंदोलन को नहीं खींचना चाहिए लंबा’

चेयरमैन ने कहा कि “केन्द्र सरकार को किसानों के आंदोलन को लंबा नहीं खींचना चाहिए, जल्द से जल्द किसान हित में सशक्त फैसला लेना चाहिए। उन्होंने कृषि कानूनों को काला करार देते हुए कहा, सोचने की बात यह है कि हर समय खेत में कामकाज में व्यस्त रहने वाला किसान नए कृषि कानूनों का विरोध क्यों कर रहा है। इसका मतलब है कि तीनों नए कानून किसान हितैषी नहीं है।

हरियाणा के सभी पेट्रोल पंप किसान आंदोलन के समर्थन में रहेंगे बंद

उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम डीलर जहां किसान आंदोलन का समर्थन करते है वहीं किसानों के साथ कंधे से कंधा मिला कर आठ दिसंबर को भारत बंद की घोषणा के मद्देनजर हरियाणा के सभी 3468 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। उन्होंने बताया कि सिंघु बार्डर, टीकरी बार्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों की वहां के पेट्रोलियम डीलर हरसंभव मदद कर रहे है। जबकि उत्तर प्रदेश के पेट्रोलियम डीलर भी किसानों की मदद के लिए पीछे नहीं है।

ये भी पढ़ें: ‘जनता को भाजपा की कुनीतियों के बारे में जानकारी देने के लिए निकलेगी साईकिल यात्रा’

Related Articles

Back to top button