इलाहाबाद: बार एसोसिएशन वकीलों का करायेगी मुफ्त इलाज

Allahabad-High-Court

इलाहाबाद। इलाहाबाद हाईकोर्ट का बार एसोसिएशन वकीलों का मुफ्त इलाज करायेगा। एसोसिएशन बीमार वकील एवं उसकी पत्नी के शहर के कुछ चुनिंदा अस्पतालों में दो लाख रूपये तक के इलाज का खर्च उठायेगी। इसके अलावा अधिवक्ता की मौत होने पर विधवा या परिवार को दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता भी देगी। बार एसोसिएशन ने इसके लिए एक कल्याण कोष गठित करने का फैसला लिया है।

पांच सदस्यीय कमेटी करेगी फैसला
बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी के साथ अध्यक्ष राधाकांत ओझा, महासचिव अशोक सिंह व वरिष्ठ उपाध्यक्ष डी.एस.मिश्र ने इसकी जानकारी दी। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राधाकांत ओझा ने बताया कि एसोसिएशन अपने सक्रिय सदस्यों को स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड के जरिये कैश लेश चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायेगी साथ ही परिसर को साफ सुथरा रखने के इंतजाम किये जायेंगे। उन्होने बताया कि घायल या बीमार 54 वकीलों को आर्थिक सहायता दी गयी है। इसके लिए पांच सदस्यीय कमेटी बैठक कर निर्णय लेती है। ऐसी व्यवस्था की जा रही है जिससे प्रैक्टिस करने वाले वकीलों को ही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल सके। इसी क्रम में बार शुल्क जमा करने में सूचना के बावजूद विफल रहे 5570 सदस्यों की स्वत: सदस्यता समाप्त कर दी गयी है।

उत्पीड़न का विरोध करेगी बार काउंसिल
अध्यक्ष राधाकांत ओझा ने कहा कि न्यायिक सुधार के लिए सात न्यायाधीशों की पीठ के कदमों का समर्थन करते हुए एकतरफा वकीलों के उत्पीडऩ का विरोध किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जब तक कंक्रीट व्यवस्था के तहत मुकदमों की सुनवाई तिथि तय नहीं कर दी जाती तब तक काजलिस्ट बंद करने का विरोध किया जायेगा। दूसरी तरफ वकीलों के संगठन अधिवक्ता फोरम ने भी काज लिस्ट बंद करने का विरोध जारी रखा है इसके लिए वकीलों के बीच एक हस्ताक्षर अभियान के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया गया। काज लिस्ट को लेकर फोरम द्वारा दो रोज से चलाए जा रहे व्यापक हस्ताक्षर अभियान में सीनियर, जूनियर एवं महिला वकीलों ने भी बढ़- चढ़ कर हिस्सा लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button