इलाहाबाद हाई कोर्ट ने माध्यमिक शिक्षा विभाग की सचिव को दिए निर्देश

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने माध्यमिक शिक्षा विभाग की सचिव आराधना शुक्ला को 20 जनवरी 2021 तक आदेश का पालन करने या अवमानना आरोप के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है।

प्रयागराज: इलाहाबाद हाई कोर्ट (High Court) ने माध्यमिक शिक्षा विभाग (Secondary education department) की सचिव आराधना शुक्ला (Aradhana Shukla) को 20 जनवरी 2021 तक आदेश का पालन करने या अवमानना आरोप के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। न्यायमूर्ति सुनीत कुमार ने अध्यापक कमलेश प्रसाद तिवारी (Kamlesh Prasad Tiwari) की अवमानना याचिका पर यह आदेश दिया।

अध्यापक ने याचिका दायर की है। सेवानिवृत्ति के करीब है और उनके बकाया वेतन के भुगतान के आदेश की खंडपीठ से पुष्टि के बावजूद पालन नहीं किया जा रहा है और न ही वेतन का आंकलन किया गया है और न ही बकाया वेतन के भुगतान की मंशा है। सरकार की तरफ से कहा गया कि खंडपीठ के आदेश को उच्चतम न्यायालय (Supreme court) में चुनौती दी गई है। इसलिए सुनवाई टाली जाय। न्यायालय ने इस दलील को यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया और कहा कि एसएलपी दाखिल होने मात्र से आदेश पर रोक नही लग जाती।

ये भी पढ़ें : नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) तनाव ख़त्म करने में सक्षम

न्यायालय ने आदेश की अवहेलना करने पर विपक्षियों को तलब किया था। तीन अधिकारी पेश हुए एसचिव ने पेशी से छूट मांगी। आदेश का पालन नही किया गया। न्यायालय ने अधिकारियों की हाजिरी माफ करते हुए आदेश का अनुपालन कर हलफनामा दाखिल करने का समय दिया है और कहा कि यदि पालन नही किया तो सचिव के खिलाफ अवमानना आरोप निर्मित करेगी। न्यायालय मामले की सुनवाई 20 जनवरी को करेगी।

Related Articles

Back to top button