‘जम्मू-कश्मीर में गैर-भाजपा उम्मीदवारों के प्रचार करने पर रोक’

अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती का आरोप, जम्मू कश्मीर में गैर-भाजपा उम्मीदवारों के प्रचार पर रोक

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती ने जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनाव में गैर-भाजपा उम्मीदवारों को प्रचार करने से रोके जाने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री के उस ट्वीट पर सवाल उठाया है जिसमें कहा गया था कि यह सुरक्षित तथा आतंकवाद-मुक्त जम्मू कश्मीर है।

जम्मू-कश्मीर में भगवा पार्टी का विरोध

नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के उपाध्यक्ष अब्दुल्ला ने आरोप लगाया कि जम्मू-कश्मीर में प्रशासन भगवा पार्टी का विरोध करने वालों को एक बहाने के रूप में इस्तेमाल कर भाजपा की मदद कर रहा है।

उमर अब्दुल्ला का ट्वीट

अब्दुल्ला ने ट्वीट करके कहा, “जम्मू-कश्मीर में यह कैसा चुनाव हो रहा है , जहां उम्मीदवारों को प्रचार करने से रोका जा रहा है? क्या यह सुरक्षित और आतंकवा-मुक्त जम्मू कश्मीर है जिसके बारे में गृह मंत्री ने कल ट्वीट किया था।”

ट्वीट को री-ट्वीट

अब्दुल्ला ने नेशनल कांफ्रेंस नेता एवं पूर्व मंत्री नासिर असलम वानी के एक ट्वीट को भी री-ट्वीट किया, जिसमें लिखा था कि भाजपा के उम्मीदवार और उसके कार्यकर्ताओं को व्यक्तिगत सुरक्षा प्रदान की जाती है, जबकि अन्य प्रत्याशियों को इससे वंचित किया जा रहा है। क्या यह चुनाव को प्रभावित करने के लिए प्रशासन का नया मंत्र है।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष मुफ्ती ने आरोप लगाया कि भाजपा उम्मीदवारों को सुरक्षा उपलब्ध कराई जा रही है जबकि अन्य उम्मीदवारों को स्वतंत्र रूप से प्रचार करने की भी अनुमति नहीं है और सुरक्षा का ढोंग कर उन्हें रोका जा रहा है।

यह भी पढ़े:अमेरिका, ब्राजील और भारत में कोरोना ने ली पांच लाख से ज्यादा लोगों की जान

यह भी पढ़े:प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना केसों को लेकर कॉलेज खोलने का फैसला स्थगित

Related Articles

Back to top button