Big Breaking: आलोक वर्मा ने प्रशासनिक पद से दिया इस्तीफा, लगाए बड़े आरोप

0

नई दिल्ली। सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को लेकर लगातार हो रही उठापटक के बाद आलोक वर्मा (Alok verma) ने प्रशासनिक पद से इस्तीफा दे दिया है। आपको बताते चले कि सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा के पक्ष में फैसला देकर आलोक वर्मा को बड़ी राहत दी थी, लेकिन आलोक वर्मा की यह खुशी ज्यादा देऱ तक नहीं रही औऱ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने उन्हें सीबीआई चीफ के पद से दोबारा हटा दिया था जिसके बाद इनका तबादला बतौर डीजी फायर सर्विसेज एंड होमगार्ड पद पर किया गया था।

आपको बताते चले कि गुरुवार को जब सीबीआई के डायरेक्टर की नियुक्ति करने वाली चयन समिति की बैठक हुई थी तो इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ए के सीकरी और कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल थे।

DoPT के सचिव श्री चंद्रमौली को लिखे पत्र में आलोक वर्मा ने कहा है कि उन्हें सीबीआई के पद से हटाने से पहले सफाई का मौका नहीं दिया गया। आलोक वर्मा ने कहा है कि इस पूरी प्रक्रिया में प्राकृतिक न्याय के सिद्धांतों की अवहेलना की गई है। आलोक वर्मा ने कहा कि चयन समिति ने इस बात का ध्यान नहीं रखा कि CVC की पूरी रिपोर्ट उस शख्स के बयान पर आधारित है जिसकी जांच खुद सीबीआई कर रही है।

बता दें कि 23 अक्टूबर 2018 को केंद्र सरकार ने आलोक वर्मा को तब जबरन छुट्टी पर भेज दिया था, जब सीबीआई में नंबर-2 राकेश अस्थाना से उनकी लड़ाई सार्वजनिक हो गई थी। सीबीआई में नंबर-1 और नंबर-2 के बीच की ये लड़ाई सत्ता और अहम के टकराव को लेकर थी। आलोक वर्मा ने अपने डिप्टी राकेश अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे, जबिक राकेश अस्थाना ने सरकार से शिकायत की और कहा कि उनके बॉस भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

loading...
शेयर करें