ट्रंप प्रशासन की प्रवासी नीति के चलते 2,000 बच्चे अपने परिवारों से हुए अलग

वाशिंगटन। अमेरिकी सरकार ने मेक्सिको सीमा पर बीते छह सप्ताह में लगभग 2,000 बच्चों को उनके माता-पिता से अलग कर दिया। अमेरिकी होमलैंड सिक्योरिटी (डीएचएस) विभाग ने इसकी पुष्टि की है।

अमेरिका

सीएनएन ने डीएचएस प्रवक्ता जोनाथन हॉफमैन के हवाले से शुक्रवार को बताया कि इस साल 19 अप्रैल से 31 मई तक 1,995 बच्चे 1,940 वयस्कों के साथ यात्रा कर रहे थे लेकिन ट्रंप प्रशासन की प्रवासी नीति के चलते उन्हें वयस्कों से अलग कर दिया गया।

हॉफमैन के मुताबिक, अवैध तरीके से सीमा पार करनेवाले प्रवासियों पर संघीय अपराधों में मामला दर्ज किया जाता है। सरकार माता-पिता पर आपराधिक न्याय प्रणाली के तहत मामला दर्ज कर रही है, जबकि बच्चों को इस प्रक्रिया से अलग रखा जाता है।

आपको बता दे कि अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल के खबर के मुताबिक ट्रंप सरकार अमेरिका की मौजूदा प्रवासी नीति को निरस्त करने की तैयारी में जुटी है। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की इस नीति के तहत अमेरिका में अवैध रूप से दाखिल हुए तकरीबन छह लाख बच्चों को सुरक्षा हासिल है। इन बच्चों को ड्रीमर्स के तौर पर जाना जाता है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी सरकार डेफर्ड एक्शन फॉर चाइल्डहुड अराइवल्स या डीएसीए नीति को वापस ले सकती है। राष्ट्रपति ट्रंप अगले साल की शुरुआत में प्रवासी नीति को खत्म करने या बनाए रखने पर फैसला ले सकते हैं।

एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक अटॉर्नी जनरल जेफ सेशंस ने इस मसले पर व्हाइट हाउस के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की है। दूसरी ओर गृह सुरक्षा विभाग के प्रवक्ता डेविड लापन ने मीडिया रिपोर्ट को खारिज किया है।

Related Articles