IPL
IPL

पत्रकार के हत्यारे की रिहाई पर फूटा अमेरिका का गुस्सा, पकिस्तान को दी चेतावनी

जनवरी 2002 में पत्रकार डेनियल पर्ल आतंकवादियों के बारे में एक खबर के सिलसिले में खोजबीन कर रहे थे, तभी उनका अपहरण कर लिया गया था।

नई दिल्ली: पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) ने अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल ( American journalist Daniel Pearl ) की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी उमर सईद शेख को गुरुवार को रिहा किये जाने के आदेश दिये थे। उमर सईद ( Umar Saeed ) को पहले मृत्युदंड की सजा दी गयी थी। जिस पर अब अमेरिका ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

आपको बतादें कि व्हाइट हाउस ने पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सख्‍त नाराजगी जताई है, बाइडेन प्रशासन की मुख्‍य प्रवक्‍ता जेन साकी ने कहा है कि ‘जो बाइडेन प्रशासन पाकिस्‍तान के इस फैसले से सख्त नाराज है। और अब शेख के खिलाफ मुकदमा चलाना चाहता है अमेरिका।

क्या था मामला ?

जनवरी 2002 में पत्रकार डेनियल पर्ल आतंकवादियों के बारे में एक खबर के सिलसिले में खोजबीन कर रहे थे, तभी उनका अपहरण कर लिया गया था। और बाद में उनकी हत्‍या कर दी गई, शेख को इस मामले में गिरफ्तार किया गया और फिर मौत की सजा सुनाई गई थी। ले‍किन निचली अदालत ने मौत की सजा को पलटते हुए 47 वर्षीय शेख को बरी कर दिया और रिहाई के आदेश दे दिए जिसके बाद वाइट हॉउस से कड़ी प्रतिक्रिया आने लगी।

उमर शेख को रिहा किये जाने संबंधी पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए, पर्ल परिवार ने एक बयान में कहा कि आज का फैसला न्याय पर पूर्ण आघात है और इन हत्यारों की रिहाई किसी भी जगह काम कर रहे पत्रकारों और पाकिस्तान के लोगों पर भी खतरा है। यह फैसला लोगो के कानूनी विश्वास को कम कर देगा।

यह भी पढ़े: चीनी ऐप Tik-Tok को लेकर यह बड़ी बात आई सामने

Related Articles

Back to top button