आर्मेनिया और अजरबैजान में जंग रोकने की कवायद, अमेरिका ने की युद्धविराम की अपील

नई दिल्लीः पश्चिम एशियाई देश आर्मेनिया और अजबैजान में खूनी संघर्ष जारी है। दुनिया के कई देश इस जंग को रोकने की जद्दोजहद में जुटे हैं। इसी कड़ी में रूस के बाद अब अमेरिका ने दोनों देशों में युद्धविराम की अपील की है।

दरअसल अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने मिन्स्क समूह की तरफ से दोनों देशों में युद्ध रोकने की अपील करते हुए कहा कि, ‘मिन्स्क समूह दोनों राष्ट्रों से आग्रह करता है कि उन्हें युद्धविराम को लागू करने के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए। दोनों देश जल्द से जल्द संघर्ष विराम को लागू करने के लिए सहमति बनाएं और इस युद्ध में नागरिक क्षेत्रों को निशाना न बनाया जाए।’ माइक पोम्पियो के इस आह्वान के बाद रूस, फ्रांस और अमेरिका सहित मिन्स्क समूह के सदस्यों ने इस लड़ाई के भयावह परिणाम की चेतावनी दी है।

मिन्स्क समूह अमेरिका और रूस सहित कुछ युरोपीय देश का संगठन है। जिसका गठन साल 1992 में बेलारूस की राजधानी मिन्स्क में क्षेत्र की शांति और सुरक्षा के मद्देनजर किया गया था। आर्मेनिया और अजरबैजान भी इस 12 सदस्यीय संठगन का हिस्सा हैं। जिसके कारण मिन्स्क समूह ने क्षेत्र में शांति बहाल करने के मकसद से सीजफायर की अपील की है।

गौरतलब है कि आर्मेनिया और अजरबैजान में 27 सितंबर से चल रहे इस युद्ध में 73 नागरिकों सहित करीब 600 लोगों की मौत हो गई है। वहीं अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस के अनुसार विवादित क्षेत्र नागोर्नो-करबख की व्यस्त सड़कें भी राख के ढेर में तब्दील हो गयीं हैं।

Related Articles