पायलटों की भारी कमी से जूझ रहा अमेरिका, एयरलाइंस ने कम किए फेरे

वाशिंगटन। अमेरिका मौजूदा समय में पायलटों की भारी कमी से जूझ रहा है, विशेष रूप से क्षेत्रीय विमानों में। रिपोर्ट के अनुसार, फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने सोमवार को रिपोर्ट में कहा कि अमेरिका में 1987 में लगभग 8,27,000 पायलट थे। पिछले तीन दशकों में यह संख्या 30 फीसदी घट गई।

रिपोर्ट के अनुसार, इस अवधि के दौरान हवाई यात्रा की मांग में जबरदस्त वृद्धि हुई है। अंतर्राष्ट्रीय वायु परिवहन संघ ने अगले 20 वर्षों में हवाई यात्रा के दोगुना होने का अनुमान जताया है।

अमेरिका की प्रमुख एयरलाइंसों में प्रत्यक्ष रूप से पायलटों की कमी नहीं है लेकिन छोटी क्षेत्रीय उड़ानें इससे सीधे तौर पर प्रभावित हैं। एयरलाइंस ने अपने फेरे कम कर दिए हैं।

इस बीच सेना द्वारा आपूर्ति किए जाने वाले पायलटों की संख्या भी कम हो गई है जिसका कारण मानवरहित हवाई वाहनों के उपयोग के कारण है। अधिक व लंबी उड़ानों से पायलटों को होने वाली थकान को कम करने के लिए कांग्रेस ने 2010 में ड्यूटी आवर्स को कम दिया था। इस बदलाव से एयरलाइनों को अपने उसी शेड्यूल को कवर करने के लिए पायलट कर्मचारियों की संख्या पांच से आठ फीसदी बढ़ानी पड़ी था।

Related Articles