चीन में मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों की जांच करेगा अमेरिका

अमेरिका ने चीन में वीगर मुसलमानों पर लगायी जा रही विभिन्न पाबंदियों को अल्पसंख्यक समुदाय का नरसंहार करार देते हुए इसकी विस्तृत जांच करने की बात कही है

वाशिंगटन: अमेरिका ने चीन में वीगर मुसलमानों पर लगायी जा रही विभिन्न पाबंदियों को अल्पसंख्यक समुदाय का नरसंहार करार देते हुए इसकी विस्तृत जांच करने की बात कही है। अमेरिकी प्रशासन के एक अधिकारी ने गुरुवार को यह बात कही।

समाचार एजेंसी क्योडाे की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने वैश्विक आपराधिक न्याय के एम्बेसडर मोर्से टैन को चीन में वीगर मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों की जांच का जिम्मा सौंपा गया है। श्री टैन सीमित समय में इसकी जांच कर जल्द ही अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे।

संयुक्त राष्ट्र के नियमों के मुताबिक किसी भी अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की बड़ी संख्या में हत्या होना और उसकी जनसंख्या नियंत्रित करने को लेकर उठाये जा रहे कदमों को नरसंहार की श्रेणी में ही गिना जायेगा।

चीन के शिनजियांग स्वायत्त क्षेत्र में अल्पसंख्यक वीगर मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों को लेकर अमेरिका लगातार बीजिंग पर मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाता आया है। चीन में वीगर मुसलमानों की बलपूर्वक नसबंदी करना, उन्हें हिरासत केन्द्रों में रखना और जबर्दस्ती मजदूरी करवाना जैसे अत्याचार हो रहे हैं जिसके आधार पर अमेरिका ने चीन पर वीगर मुसलमानों के नरसंहार का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़े: कोरोना के नए स्वरूप की पहुंच से इंदौर जिला पूरी तरह सुरक्षित

Related Articles

Back to top button